Covid effect: इस साल भी पर्दे में रहेंगे राठौड़ बाबा और गणगौर

कोरोना संक्रमण और राज्यव्यापी कफ्र्यू के चलते राठौड़ बाबा और गणगौर को पर्दे में ही रखा जाएगा। लगातार यह दूसरा साल होगा जबकि सवारी नहीं निकलेगी।

By: raktim tiwari

Published: 20 Apr 2021, 08:16 AM IST

अजमेर.

सोलथम्बा फरिकेन की ओर से ईसर-गणगौर (राठौड़ बाबा) की पारम्परिक सवारी नहीं निकाली जाएगी। कोरोना संक्रमण और राज्यव्यापी कफ्र्यू के चलते राठौड़ बाबा और गणगौर को पर्दे में ही रखा जाएगा। लगातार यह दूसरा साल होगा जबकि सवारी नहीं निकलेगी।

चैत्र शुक्ल दशमी को प्रतिवर्ष राठौड़ बाबा और गणगौर की पारम्परिक सवारी गाजे-बाजे के साथ निकाली जाती है। सवारी खटोला पोल, व्यास गली,होली धड़ा कड़क्का चौक, नया बाजार चौपड़ आगरा गेट होते हुए नसियां के निकट भोजनशाला तक पहुंचती हैं। यहां विश्राम के बाद आगरा गेट, चौपड़ होते हुए सवारी वापस मोदियाना गली जाती है।

पर्दे में ही रहेंगे ईसर-गणगौर
सवारी व्यवस्था के संचालक डॉ.मुन्नालाल अग्रवाल ने बताया कि पिछले साल भी कोरोना लॉकडाउन के चलते सवारी नहीं निकाली गई थी। इस बार भी राज्यव्यापी कफ्र्यू के चलते सवारी नहीं निकलेगी। मेहंदी लच्छे और प्रसाद भी नहीं बांटा जाएगा। मालूम हो कि मोदियाना गली में राठौड़ बाबा और गणगौर सालभर तक रहते हैं। इन्हें सालभर तक पर्दे में ढंककर रखा जाता है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned