Crime: थमाए शिक्षक नियुक्ति के फर्जी आदेश, ऐंठ लिए 10 लाख

raktim tiwari

Updated: 13 Oct 2019, 07:50:00 AM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर. शिक्षक नियुक्ति (teachers recruitment) के फर्जी आदेश जारी करने और दो महिलाओं से पांच-पांच लाख रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। क्लाक टावर थाना पुलिस ने पांच महीने से फरार बीकानेर के युवक को गिरफ्तार किया है।

क्लाक टावर थाना (clock tower thana) प्रभारी सूर्यभान सिंह ने बताया कि जगदीश लखानी ने 18 मई 2019 को शिकायत दर्ज कराई थी। उनकी पत्नी ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की रीट (REET exam) परीक्षा दी थी। वह परीक्षा में सफल नहीं हुई थी। इस दौरान उनकी बीकानेर निवासी अभिषेक डागा से मुलाकात हुई।

read more: Mdsu: विश्वविद्यालय में ही जंचेंगी students की कॉपियां

बताया शासन सचिवालय में कार्यरत
अभिषेक ने खुद की शासन सचिवालय (seceretrate ) जयपुर में तैनाती बताई। उसने जगदीश को पत्नी श्वेता को रीट में पास (pass) कराने और नियुक्ति (appointment) दिलाने का झांसा दिया। जगदीश ने उसे अलग-अलग चरण में पांच लाख रुपए सौंपे। यह जानकारी मिली तो जगदीश के पड़ौस में रहने वाली खुश्बू गहलोत ने भी अभिषेक से संपर्क किया। खुश्बू ने भी जगदीश को अलग-अलग चरण में पांच लाख रुपए दिए। दोनों महिलाओं-परिजनों ने कुछ रकम बैंक तो कुछ नकद दी।

read more: पुष्कर में सरकारी जमीन पर दुकानें बना कर रहे अवैध किराया वसूली

थमाए केकड़ी और अजमेर के नियुक्ति पत्र
थानाधिकारी सिंह ने बताया कि अभिषेक ने दोनों महिलाओं से दस लाख रुपए ऐंठने के बाद नियुक्ति पत्र जारी कर दिए। दोनों पत्रों में निर्वाचन विभाग (election dept)की सील और अन्य वांछित हस्ताक्षर थे। एक महिला को केकड़ी (kekri) के राजकीय विद्यालय और दूसरी को पुरानी मंडी स्थित सेंट्रल गल्र्स स्कूल (central girls school) में नियुक्ति देना बताया गया।

read more: ये कैसी रात्रि चौपाल : कलक्टर रहे मौजूद और कई अधिकारी नदारद

परिवार को हुआ शक
रीट में पास हुए बगैर नियुक्ति पत्र आया तो दोनों महिलाओं (womens) को शक हो गया। तोपदड़ा स्थित शिक्षा विभाग से जानकारी लेने पर दोनों के नियुक्ति पत्र (appointment letter) फर्जी निकले। जगदीश ने तत्काल क्लाक टावर थाने में शिकायत दी।

read more: Baalika Divas : एक दिन के लिए बनी प्रिंसिपल देखिए वीडियो

बार-बार बदल रहा था लोकेशन
मुकदमा दर्ज (FIR) होने की सूचना मिलते ही ठग अभिषेक सतर्क हो गया। वह पिछले पांच महीने से अपनी लोकेशन (location) बदल रहा था। शुक्रवार को क्लाक टावर थाना पुलिस को उसकी जयपुर में होने की सूचना मिली। थाने की टीम ने उसे जयपुर जाकर पकड़ लिया। शनिवार को उसे न्यायालय में पेश किया गया।

read more: नसीराबाद सेना क्षेत्र में संदिग्धावस्था में घूम रहे बांग्लादेशी नागरिक को पकड़ा

यह करनी है पूछताछ
-किस शहर/उपखंड से बनवाए फर्जी नियुक्ति पत्र
-कहां से जुटाई निर्वाचन विभाग की सील, हस्ताक्षर
-महिलाओं से ऐंठे गए दस लाख रुपए का हिसाब
-गिरोह/गैंग का नेटवर्क किन-किन शहरों तक

read more: फर्जी पट्टा बनाने एवं सरकारी भूमि हड़पने पर मुकदमे दर्ज

पकड़ा था फर्जी आईएएस को
जिला पुलिस ने पिछले महीने भरतपुर नदबई के लोहासा गांव निवासी सौरभ शर्मा को पकड़ा था। वह खुद को आईएएस (fake IAS Officer)अधिकारी बताता था। साथ ही बेरोजगारों को सरकारी नौकरी का झांसा देकर फांसता था। सौरभ ने तीन युवकों को सिंभागीय आयुक्त कार्यालय में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी दिलाने के नाम बुलाया था। सीएमओ (CMO) का फर्जी आईएएस बनकर उसने अजमेर के सर्किट हाउस में कमरा बुक कराया और तीनों को ठहराया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned