CRIME: एटीएम से 26.8 लाख उड़ाने के मामले में तीन गिरफ्तार

आरोपियों से करीब 14 एटीएम कार्ड बरामद। नेटवर्क में कई लोगों के शामिल होने की आशंका।

By: raktim tiwari

Published: 21 Jun 2021, 08:42 AM IST

अजमेर.

हरियाणा मेवात गिरोह द्वारा शहर के पांच थाना क्षेत्रों में एसबीआई के विभिन्न एटीएम में छेड़छाड़ कर 26.8 लाख रुपए उड़ाने के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इनसे अलग-अलग बैंक के करीब 14 एटीएम कार्ड बरामद किए गए हैं।

एसपी जगदीशचंद्र शर्मा ने बताया कि शहर में लगातार एटीएम से छेड़छाड़ कर कैश उड़ाने के मामले सामने आ रहे थे। पुलिस ने शनिवार को हरियाणा मेवात के ठग गिरोह के तीन-चार लोगों को हिरासत में लिया था। पुलिस ने बैंकों से सीसीटीवी फुटेज के आधार विभिन्न होटल, सराय और धर्मशाला को खंगाला। टोल नाकों के सीसीटीवी फुटेज भी लिए गए। मामले की जांच के लिए पुलिस ने स्पेशल टीम गठित की थी। इसमें एडशिनल एसपी (शहर) सीताराम प्रजापत, क्लाक टावर थाना के उप निरीक्षक नरेंद्र सिंह, सहायक उप निरीक्षक दयानंद, कांस्टेबल नरसीसिंह और रतनसिंह शामिल थे।

इन्हें किया गिरफ्तार
सीओ साउथ मुकेश सोनी ने रविवार को अलवर गेट थाने में मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने आरोपियों का किशनगढ़ और बगरू टोल तक पीछा किया। बगरू टोल पर हरियाणा के जलालपुर खालसा सदर थाना पलवल निवासी आबिद हुसैन (32) पुत्र नसरुद्दीन हुसैन, सुल्तानपुर पुनहाना जिला नूह निवासी सलीम (22) पुत्र हकमुद्दीन और सेहबाज (2) पुत्र आस मोहम्मद की पहचान की गई। तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने क्रिश्चयनगंज, रामगंज, कोतवाली थाना क्षेत्र में एटीएम से कैश उड़ाने की वारदात कबूली है।

बैंक ने फ्रीज नहीं कराए खाते
सीओ साउथ सोनी ने बताया कि आरोपियों के पास करीब 14 एटीएम कार्ड बरामद किए गए हैं। इन्हीं कार्ड से कैश निकालते वक्त एटीएम में पेचकस या स्केल डालकर उसे खराब करते थे। इससे मोबाइल में कैश निकालने का मैसेज नहीं आता था। बाद में राशि नहीं निकलना बताकर बैंकों से खाते में कैश ट्रांसफर करातेे थे। बैंकों ने शनिवार और रविवार को अवकाश के चलते खातों की कोई डिटेल पुलिस को उपलब्ध नहीं कराई है। ना ही जिन खातों से उन्हें फ्रीज किया गया है।

नेटवर्क में कई गुर्गे शामिल..
हरियाणा मेवात गैंग ने राजस्थान सहित कई राज्यों में एटीएम को निशाना बनाया है। गिरोह के लोग अजमेर में हरियाणा नंबर की टैक्सी में पहुंचे थे। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पुलिस को एटीएम से कैश उड़ाने वाले गैंग में हरियाणा सहित स्थानीय लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। आरोपियों से पूछताछ के आधार पर पुलिस की टीम गिरोह में शामिल लोगों को पकडऩे हरियाणा भी भेजी जाएगी।

गिरोह ने कबूली यह वारदात...
16 और 17 जून: एसबीआई स्टेशन रोड के एटीएम से 9 लाख 90 हजार रुपए
17 और 18 जून: एसबीआई के डिग्गी चौक एटीएम से 4 लाख 10 हजार 500 रुपए
17 जून को केसरगंज ट्रांसपोर्ट नगर एसबीआई एटीएम से 9 .90 लाख रुपए
17 और 18 जून को मदार शाखा स्थित एटीएम बूथ से 1 लाख 20 हजार रुपए
-जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज स्थित एटीएम से 40 हजार रुपए

सुरक्षा गार्ड रहते नदारद
शहर में विभिन्न सरकारी और निजी बैंक के एटीएम भगवान भरोसे हैं। बैंक प्रबंधन ने एटीएम पर सुरक्षा गार्ड की तैनाती नहीं की है। यही वजह है कि हरियाणा मेवात गैंग और अन्य अवांछित लोग एटीएम पर वारदात करने में सफल हो जाते हैं। बैंक प्रबंधन केवल सीसीटीवी के भरोसे एटीएम चला रहे हैं। जिले में किशनगढ़, सावर सहित कई इलाकों दो-तीन साल में एटीएम को उखाडऩे, काटने जैसी वारदात सामने आ चुकी हैं। लेकिन बैंक फिर भी लापरवाह बने हुए हैं।

पुलिस का इन बिंदुओं पर फोकस...
-गिरोह में एटीएम निर्माता या मरम्मत करने वाले तकनीकी कार्मिक शामिल
-एसबीआई के एटीएम चुनने के पीछे कोई खास तकनीकी खराबी या अन्य वजह
-सुरक्षा गार्डों से कहीं कोई तालमेल तो नहीं
-किन बैंक खातों में किया आरोपियों ने लेन-देन
-गिरोह की अन्य आपराधिक गतिविधियों में लिप्तता

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned