बाड़ी नदी में जलकुंभी से आनासागर पर संकट

जनवरी में नगर निगम ने कराई थी बाड़ी नदी से जलकुंभी साफ
बारिश में आनासागर झील में पहुंच जाएगी जलकुंभी

By: himanshu dhawal

Published: 20 Jul 2020, 05:19 PM IST

अजमेर. पुष्कर रोड से अडमेर की सीमा तक पहुंचने वाली बाड़ी नदी में फिर से जलकुंभी फैल गई है। करीब 6 महीने पहले ही बाड़ी नदी से जलकुंभी को साफ किया गया था, लेकिन इसने अब फिर से पैर पसार लिए हैं। तेज बारिश आते ही यह बहकर आनासागर झील तक पहुंच जाएगी।
पुष्कर रोड की ओर से आ रही बाड़ी नदी में पिछले कुछ दिनों से जलकुंभी फैल रही है। इसके फैलने की रफ्तार इतनी तेज है कि यह कुछ दिनों में ही यह पूरी तरह से फैल जाएगी। इसके फैलने से धूप पानी के भीतर तक नहीं पहुंचने से पानी में आक्सीजन की मात्रा कम हाने के कारण पानी सड़ांध मारने लगता है। साथ ही जलीय जीव-जंतुओं को ऑक्सीजन नहीं मिलने से उनकी भी मौत हो जाती है।

मर चुकी हैं हजारों मछलियां
जनवरी माह में जलकुंभी के कारण हजारों की संख्या में मछलियों ने दम तोड़ दिया था। बदबू के कारण आसपास के लोगों का रहना मुश्किल हो गया था। राजस्थान पत्रिका में समाचार प्रकाशित करने पर पूरी बाड़ी नदी से जलकुंभी को हटाया गया था। छह माह में ही यह फिर से फैलने लगी है। इसकी सफाई में फिर हजारों रुपए खर्च होंगे।

आनासागर में पहुंच जाएगी जलकुंभी
बारिश का मौसम जारी है। ऐसे में कभी भी तेज बारिश आते ही बाड़ी नदी से पानी आनासागर झील में पहुंचेगा। इससे यह पानी के साथ बहकर झील तक पहुंच जाएगी। आनासागर झील में डिवीडिंग मशीन चलती रहती है। हालांकि आनासागर के किनारों पर जलकुंभी फैली हुई है। जो मशीन से साफ नहीं हो पाती।

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned