Crow death: बारादरी पर मिले तीन मृत कौए, बर्ड फ्लू पर सस्पेंस

वन विभाग कौओं मृत्यु के कारणों की जांच में जुटा है। बर्ड फ्लू है या नहीं यह फॉरेंसिक लैब की जांच में ही मालूम हो सकेगा।

By: raktim tiwari

Published: 06 Jan 2021, 09:49 AM IST

अजमेर.

जिले में कौओं की मौत का सिलसिला जारी है। बारादरी पर फिर तीन मृत कौए मिले। यह झाडिय़ों के नीचे पड़े थे। वन विभाग कौओं मृत्यु के कारणों की जांच में जुटा है। बर्ड फ्लू है या नहीं यह फॉरेंसिक लैब की जांच में ही मालूम हो सकेगा।

बारादरी पर शनिवार को नौ कौवे मृत मिले थे। रविवार को यहां सात और नया बाजार पट्टीकटला में तीन कौवे मृत मिल थे। जबकि सोमवार को एक कौआ मृत मिला। मंगलवार को बारादरी इलाके में तीन कौए मृत मिले। यह पेड़ों-झाडिय़ों में पड़े थे। बुधवार सुबह वनकर्मियों ने आसपास के इलाके पर खाने-पीने की वस्तुएं, कौए के पेड़ों पर बैठने के स्थान सहित अन्य स्थानों का निरीक्षण किया।

पशुपालन विभाग हुआ सक्रिय
सरकार के निर्देशों के बाद पशुपालन विभाग अलर्ट हो गया है। अजमेर-ब्यावर और पुष्कर में कौओं की मौत के बाद से पुशपालन विभाग जानकारी जुटाने में लगा है। पशुपालन विभाग ने राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम भी स्थापित किया है। कौओं की मौत को लेकर रेस्पॉन्स टीम गठित की गई है।

जांच रिपोर्ट का इंतजार
कौओं की मौत बर्ड फ्लू से हुई है या नहीं इसको लेकर अजमेर, बारां के मथाना, सारथल, झालावाड़, पनवाड़, सुनेल, जोधपुर, जयपुर सहित विभिन्न जिलों को जांच रिपोर्ट का इंतजार है। मृत कौओं का विसरा फोरेंसिक लैब भोपाल और इंडियन वेटेनेरी रिसर्च इंस्टीट्यूट बरेली भेजा गया है। मालूम हो कि 2019 में अजमेर में मृत मिले कौओं की आंतों विषाक्त पदार्थ मिला था।

यह जताई गई है संभावना
-तेज सर्दी/शीतलहर से कौओं की मौत
-आनासागर की सड़ी-गली मछलियां खाने से कौए बीमार
-विषाक्त अथवा फंस युक्त ब्रेड-रोट का सेवन
-मृत पशु-पक्षी के फेंके हुए मांस का सेवन

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned