सीटीएल घोटाला: एक्सईएन के बाद अब जेईएन भी सस्पेंड

ट्रांसफार्मर का सैम्पल बदलकर पास करने का मामला

जांच में हुई थी लिप्तता की पुष्टी

अजमेर डिस्कॉम

असर तीन ईपीएस....

By: bhupendra singh

Updated: 14 Oct 2021, 07:21 PM IST

अजमेर. अजमेर विद्युत वितरण निगम की सेंट्रल टेस्टिंग लैब (सीटीएल) में ट्रांसफार्मर का सैम्पल बदलकर उसे पास करने के मामले में निगम ने जांच रिपोर्ट के बाद लैब के कनिष्ठ अभिंयता अंकित जैन को सस्पेंड कर दिया है। जैन का मुख्यालय अधीक्षण अभियंता कार्यालय नागौर किया गया है। इस मामले में पिछले माह एक्सईएन अशोक शर्मा को सस्पेंड किया गया था। निगम ने मामले की जांच बिजली कम्पनियों के सीएमडी के निर्देश पर की थी। निगम की त्वरित जांच- पड़ताल में ट्रांसफार्मर का सैम्पल बदल कर फेल को पास किए जाने की पुष्टी हुई थी। इस मामले में एक्सईएन शर्मा, जेईएन जैन के अलावा एईएन महेन्द्र कुमार यादव को भी जिम्मेदार मानते हुए चार्जशीट प्रस्तावित की गई है। मामले में अभियंताओं के साथ ही ट्रांसफार्मर निर्माता कम्पनी तथा उसके प्रतिनिधि को भी जिम्मेदार माना गया है।पूर्व में भी मिली थी चार्जशीट

गौरतलब है कि इस मामले में निलंबित किए गए अधिशासी अभियंता अशोक शर्मा पूर्व में भी एमएम विंग में कार्यरत होते हुए सस्पेंड हो चुके थे तथा सीटीएल में भी अशोक शर्मा और कनिष्ठ अभियंता अंकित जैन को फर्म विशेष को लाभ पहुंचाने के लिए चार्जशीट मिली थी।

औचक निरीक्षण हुए बंद

पूर्व में निगम द्वारा अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारियों को साप्ताहिक रूप से औचक जांच के लिए लगाया जाता था। जिसमें उच्च अधिकारी द्वारा टेस्ट किए गए मटेरियल को पुन: टेस्ट किया जाता था निरीक्षण के डर से अभियंताओं द्वारा टेस्टिंग में लापरवाही नहीं की जाती थी वर्तमान में सभी औचक निरीक्षण स्थानांतरण प्रक्रिया के कारण धीरे पड़े हुए हैं। ये मामला सामने आने के बाद डिस्कॉम प्रशासन को सीटीएल लैप के प्रति और अधिक कठोर निर्णय लेने की आवश्यकता है जिससे निगम में पारदर्शिता हो सके।

सभी कर्मचारी हटाए

राजस्थान पत्रिका में ट्रांसफार्मर की टेस्टिंग में फर्जीवाड़ा कर फेल सैम्पल बदल कर उसे पास करने का मामला उजागर होने के बाद निगम ने लैब का स्टाफ का तबादला कर दिया है। एईएन, जेईएन, एक्सईएन को हटाया गया है। नए कार्मिकों की नियुक्ति की गई।

इनका कहना है

जेईएन अंकित को सीटीएल प्रकरण में सस्पेंड किया गया है। चार्जशीट का प्रस्ताव मांगा गया है। जल्द ही सभी को चार्जशीट जारी कर जवाब मांगा जाएगा।एन.एल.राठी, सचिव (प्रशासन) अजमेर डिस्कॉम

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned