Demand: हमारा 55 प्रतिशत वोट बैंक, चाहिए संगठन और राजनीति में भागीदारी

55 प्रतिशत वोट बैंक वाली ओबीसी जातियों को सत्ता-संगठन और निगम-बोर्ड में प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए।

By: raktim tiwari

Published: 26 Dec 2020, 09:14 AM IST

अजमेर.

अन्य पिछड़ा वर्ग ने कांग्रेस संगठन सहित राजनैतिक नियुक्तियों में भागीदारी की आवाज बुलंद की है। अखिल राजस्थान कांग्रेस कमेटी अन्य पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रांतीय संयोजक राजेंद्र सैन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 55 प्रतिशत वोट बैंक वाली ओबीसी जातियों को सत्ता-संगठन और निगम-बोर्ड में प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए। इसको लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, सीएम अशोक गहलोत, कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय मकान को प्रस्ताव भेजे जाएंगे। ताकि ओबीसी वर्ग को भागीदारी मिले।

उन्होंने कहा कि दो साल से ओबीसी वित्त निगम, माटी कला, केश कला,देवनारायण बोर्ड का गठन नहीं हुआ है प्रदेश और जिला-ब्लॉक कांग्रेस स्तर पर कार्यकारिणी का गठन होना है। अन्य पिछड़ा वर्ग की राज्य में खासा जनाधार है। माली, स्वर्णकार, रावत, गुर्जर, सेन, छीपा सहित अन्य संवर्गों को इनमें प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए। अजमेर में एडीए अध्यक्ष, शहर कांग्रेस जिलाध्यक्ष पद पर ओबीसी वर्ग की नियुक्ति पर विचार होना चाहिए।

सत्ता-संगठन और राजनैतिक नियुक्तियों को लेकर हम सीएम गहलोत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा को प्रस्ताव भेजेंगे। ओबीसी वित्त निगम के गठन से बढ़ई, कताई, बनाई, फर्नीचर और अन्य कामकाज करने वाले ओबीसी संवर्ग के लोगों को वित्तीय मदद मिलेगी। इस दौरान प्रकोष्ठ के अजमेर अध्यक्ष महेश चौहान, कैलाश झालीवाल, हनीष मारोठिया, भारत यादव और अन्य मौजूदथे।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned