Ajmer Dargah News : रोक के बावजूद हार्दिक ने दरगाह में चढ़ाई चादर!

अजमेर ख्वाजा साहब की दरगाह में कोरोना संक्रमण के चलते फिलहाल चादर और फूल चढ़ाने पर पाबंदी है। इसके बावजूद गुजरात के कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने दरगाह में चादर और फूल पेश किए।

By: Yuglesh kumar Sharma

Updated: 23 Nov 2020, 01:04 AM IST

अजमेर. ख्वाजा साहब की दरगाह में कोरोना संक्रमण के चलते फिलहाल चादर और फूल चढ़ाने पर पाबंदी है। इसके बावजूद गुजरात के कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने दरगाह में चादर और फूल पेश किए। गरतलब यह कि दरगाह के सभी गेट पर पुलिसकर्मी और परिसर में दरगाह कमेटी और अंजुमन के कर्मचारियों की मौजूदगी के बावजूद किसी ने ना तो इस पर ऐतराज किया और ना ही उन्हें रोकने की कोशिश। हार्दिक पटेल बाकायदा बुलंद दरवाजे से आस्ताना शरीफ तक सिर पर चादर और फूलों की टोकरी लेकर गए। इस दौरान उनके साथ वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष खानुखान बुधवाली, खादिम और स्थानीय कांग्रेसी भी मौजूद रहे। इससे जिला-पुलिस और दरगाह कमेटी प्रशासन के इंतजाम भी सवालिया हो गए हैं।

बंद हैं चादर और फूल की दुकानें

दरगाह बाजार व दरगाह परिसर में खुद पुलिस ने ही चादर और फूल की दुकानें बंद करवा रखी है। पिछले दिनों एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने भी दरगाह क्षेत्र के दौरे के दौरान फूलों की कुछ दुकानें खुली देखकर नाराजगी जताई थी। किसी भी खादिम के मेहमान को चादर और फूल ले जाने की इजाजत नहीं है। ऐसे में दरगाह के ही कई खादिमों ने जिला व पुलिस प्रशासन के इंतजामों पर सवाल उठाया है।

सभी ने किया इन्कार

इस संबंध में दरगाह थाना अधिकारी रमेन्द्र हाड़ा, दरगाह नाजिम अशफाक हुसैन और अंजुमन सचिव वाहिद हुसैन अंगारा शाह से जानकारी चाही गई तो सभी का कहना था कि उनकी तरफ से चादर और फूल पेश करने की अनुमति नहीं दी गई है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि आखिर हार्दिक चादर और फूल ले जाने में कैसे कामयाब हो गए। और अगर उन्होंने गाइड लाइन का उल्लंघन कर नियम तोड़ा तो कार्रवाई क्या की गई।

Yuglesh kumar Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned