धौलपुर उठाएगा पड़ोसियों का भार, दूसरे राज्यों से आएंगे 15 हजार

भौगोलिक संरचना के कारण धौलपुर बना यूपी, एमपी के परीक्षार्थियों की पसंद - राजस्थान के अन्य जिलों से आएंगे महज 2279 अभ्यर्थी , जिले के 7705 अभ्यर्थी- 7 से 8 हजार महिला अभ्यर्थियों के आने की संभावना

By: Dilip

Updated: 25 Sep 2021, 02:02 AM IST

धौलपुर. 26 सितम्बर को होने जा रही राज्य की अब तक सबसे बड़ी रीट परीक्षा में जिले में 39 हजार 355 परीक्षार्थी अपने भविष्य की इबारत लिखेेंगे। इनकी व्यवस्थाओं तथा सुरक्षा को लेकर पूरा सरकारी अमला जुटा हुआ है, लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि इस परीक्षा में शामिल होने वाले कुल 25 हजार परीक्षार्थियों में से करीब 15 हजार अभ्यर्थी केवल पड़ोसी प्रदेशों उत्तरप्रदेश तथा मध्यप्रदेश के जिलों के हैं। जबकि धौलपुर जिले के 7705 परीक्षार्थी हैं, जबकि राजस्थान के दूसरे जिलों से आने वाले परीक्षार्थियों की संख्या महज 2279 ही है। यानी कुल परीक्षार्थियों में से करीब 60 प्रतिशत परीथार्थी तो दूसरे प्रदेशों से जिले में आ रहे हैं। जिले में होने वाली रीट परीक्षा में प्रथम पारी में 21 हजार 932 परीक्षार्थी तो दूसरी पारी में 17 हजार 423 परीक्षार्थी बैठेंगे। इनमें से दूसरी पारी में 14 हजार 380 परीक्षार्थी ऐसे हैं, जो प्रथम पारी में भी बैठ चुके होंगे।

7 से 8 हजार महिला अभ्यर्थी
जिले में कुल 25 हजार परीक्षार्थियों में से तकरीबन 7 से 8 हजार महिला अभ्यर्थियों का अनुमान लगाया जा रहा है। ऐसे में इनके साथ अभिभावकों के आने की संभावना है। जिनकी सुरक्षा व ठहराव व भोजन की व्यवस्था के लिए सामाजिक संगठनों के माध्यम से व्यवस्था की है। पुलिस तथा प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से हर ब्लॉक में महिला अभ्यर्थियों के लिए अलग से ठहराव स्थल बनवाए हैं। साथ ही स्थल के बाहर बड़ा बैनर भी लगाया जाएगा, जिससे पुरुष अभ्यर्थी नहीं जा सकें। वहीं पर महिला सुरक्षाकर्मी तथा महिला वॉलियंटर की भी व्यवस्था की है। इसी प्रकार परीक्षा केन्द्रों पर भी एक महिला पुलिसकर्मी तथा एक महिला शिक्षक का तैनात किया गया है, जो महिला अभ्यर्थियों की तलाशी लेंगी। जगह-जगह पुलिस जाप्ता भी लगाया गया है।

रोडवेज बसों से परीक्षार्थियों का जाना शुरू
दूसरे जिलों में आए परीक्षा केन्द्रों के लिए जिले से परीक्षार्थियों का जाना शुरू हो गया है। पहले दिन शुक्रवार को शाम तक 45 बसों का रवाना किया गया है। हालांकि इस दौरान सामान्य यात्री परेशान होते रहे। बसों में केवल परीक्षार्थियों को ही भेजा गया। इनमें सभी बसों को जयपुर रवाना किया गया है। साथ ही ये ही बसें जयपुर से परीक्षार्थियों को लेकर आएंगी। वहीं निजी बसों को भी परीक्षार्थियों के लिए अधिगृहित किया गया है। जिससे परीक्षार्थियों को आवागमन में दिक्कत नहीं हो। शुक्रवार सुबह 7 बजे से ही धौलपुर जिले के परीक्षार्थियों ने दूसरे जिलों में जाना शुरू कर दिया है। इस दौरान सुरक्षा तथा व्यवस्था को लेकर पुलिस जाप्ता भी तैनात रहा।

आम यात्रियों को नहीं मिल रहे वाहन
परीक्षार्थियों के अलावा आम यात्रियों को उनके गंतव्य तक जाने के लिए वाहन नहीं मिल रहे। रोडवेज बस स्टैंड के साथ प्राइवेट बस स्टैंड पर भी बड़ी संख्या में आम यात्री खड़े दिखे। यात्रियों ने बताया कि वह सुबह से जयपुर जाने के लिए बस स्टैंड पर खड़े हैं। लेकिन बसों में परीक्षार्थियों के अलावा किसी को नहीं ले जाया जा रहा। प्राइवेट बसों की भी ना मिलने से उन्हें जयपुर जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इनका कहना है
जिले में कुल 25 हजार परीक्षार्थियों में से 15 हजार परीक्षार्थी केवल उत्तरप्रदेश तथा मध्यप्रदेश के हैं। सभी के लिए परिवहन, ठहराव व खाने की व्यवस्था की गई है। जिले में सुरक्षा के माकूल प्रबंध किए गए हैं। सभी संगठनों को सहयोग मिल रहा है। नकल रोकने के लिए संदिग्ध लोगों के मोबाइल नम्बरों को सर्विलांस पर रखा गया है।- राकेश कुमार जायसवाल, जिला कलक्टर, धौलपुर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned