सारथी की मदद से बढ़ाएंगे दिव्यांगों का मतदान

सारथी की मदद से बढ़ाएंगे दिव्यांगों का मतदान

Amit Kakra | Publish: Apr, 24 2019 11:29:56 AM (IST) | Updated: Apr, 24 2019 11:29:57 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

करीब 15 हजार की दिव्यांगों की सहायता करेंगे स्काउट, गाइड और कर्मचारी

अजमेर.

लोकसभा चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए उनके लिए खास व्यवस्था की जाएगी। जिले के करीब 15 हजार दिव्यांगों को मतदान कराने के लिए करीब 7 हजार लोगों को लगाया गया है। इसके लिए जिला व ब्लॉक स्तर पर दिव्यांग प्रकोष्ठ का गठन किया गया है।
सारथी दिव्यांगों को घर से बूथ तक लाने व ले जाने की व्यवस्था करेंगे। हर बूथ स्तर पर दिव्यांग मतदाताओं को चिन्हित कर उनको लाने व ले जाने के लिए रूट मैप बनाया गया है। ताकि ज्यादा-ज्यादा से मतदाताओं को एक साथ बूथ पर पहुंचाया जा सके। बूथ पर व्हील चेयर उपलब्ध कराई जाएगी। यहां स्काउट-गाइड के कार्यकर्ता व अन्य दिव्यांगों की मदद करेंगे। जिले, ब्लॉक व बूथ स्तर तक तैयारीमतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए दिव्यांग प्रकोष्ठ जिला व ब्लॉक की ओर से हर बूथ पर दिव्यांग मतदाताओं को चिन्हित किया गया है। जिस बूथ पर सबसे ज्यादा दिव्यांग मतदाता होंगे। वहां दिव्यांग के लिए टैंट भी लगाया जाएगा। मतदान करने आने वाले दिव्यांगों को कैप भी दी जाएगी। आई कार्ड जारी होगा दिव्यांगों की मदद करने वालों के लिए दिव्यांग सारथी का पहचान पत्र जारी किया जाएगा। यह सारथी दिव्यांगों को घर से मतदान केन्द्र तक लाएंगे। व्हील चेयर से बूथ तक ले जाएंगे। उन्हें वापस घर तक पहुंचाएंगे। जिन बूथ पर सर्वाधिक दिव्यांग है वहां बैठने के लिए टैन्ट लगाया जाएगा।

इसके चलते होती है दिक्कत
आमतौर पर दिव्यांग मतदाता बूथ पर व्हील चेयर नहीं होने, साथ में कोई सहायक नहीं होने, ब्रेल लिपि सहित अन्य कारणों से मतदान करने से परहेज करते है। इन परेशानियों को ध्यान में रखते हुए यह व्यवस्था की गई है। हर दो घंटे में लेंगे मतदान का अपडेटदिव्यांगों का मतदान को हर दो घंटे में सूचना ली जाएगी। इसके तहत ब्लॉक स्तर पर संयोजक हर दो घंटे में दिव्यांगों के मतदान की संख्या जिला स्तर पर बताएंगे।
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव में दिव्यांगों ने 76 प्रतिशत से ज्यादा मतदान किया था।
इनका कहना है
दिव्यांगों का मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए वाहन, व्हील चेयर, सहायक सहित अन्य व्यवस्थाएं की गई है। ताकि वे निर्बाध रूप से मतदान कर सके।
जे. पी. चारण, उपनिदेशक समाज कल्याण

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned