नीट-जेईई : यूपी से डॉ. खुर्शीद चला रहा है पैसा लेकर पास करवाने वाला गिरोह

अजमेर रेंज पुलिस टीम कर रही है डॉ. खुर्शीद की तलाश, प्रदेश के पांच शहरों सहित दिल्ली-यूपी में गैंग के गुर्गों की तलाश जारी

 

By: manish Singh

Published: 15 Sep 2021, 02:29 AM IST

अजमेर. नीट-जेईई में पैसा लेकर कमजोर विद्यार्थियों को पास कराने वाले गिरोह का सरगना डॉ. खुर्शीद यूपी के बिजनौर से गिरोह को संचालित कर रहा है। डॉ. खुर्शीद भी पेशे से डॉ. राजन राजगुरु की तरह उत्तराखंड में मेडिकल ऑफिसर है। वह महेन्द्र सैनी, अर्पित स्वामी, डॉ. राजन के साथ बीते तीन साल से सैकड़ों कमजोर विद्यार्थियों को नीट-जेईई में पास करवा चुका है। पुलिस को अब गिरोह के सरगना डॉ. खुर्शीद समेत कोटा, जोधपुर, झुंझुनूं, सीकर बाड़मेर, दिल्ली व यूपी में छिपे गुर्गों की तलाश है।
तलाश का दायरा बढ़ाया

पुलिस महानिरीक्षक(अजमेर रेंज) स्पेशल टीम ने नीट-जेईई में सक्रिय गिरोह की तलाश का दायरा बढ़ा दिया है। डॉ. राजन राजगुरु, दलाल महेन्द्र सैनी, मोहम्मद तंजील और अर्पित स्वामी की गिरफ्तारी के बाद मास्टर माइंड यूपी बिजनौर में बैठे डॉ. खुर्शीद का नाम सामने आया है।

देशभर में फैला है नेटवर्क

उत्तराखण्ड राज्य में मेडिकल ऑफिसर डॉ. खुर्शीद की देशभर में डॉ. राजन, महेन्द्र सैनी, तंजील और अर्पित स्वामी जैसे सैकड़ों लाइन हैं। जिनके जरिए वह कमजोर छात्रों को तलाशने व उन्हें होशियार मेडिकोज के जरिए पास कराने की जुगत बैठाता है। डॉ. खुर्शीद स्वयं दस्तावेजी कार्रवाई अंजाम देता है। एएसपी डिडवाना विमल नेहरा, निरीक्षक लाडूनं राजेन्द्र कमांडो, रेंज कार्यालय के एएसआई पवन कुमार शर्मा समेत अन्य टीम अब भी गिरोह का पीछा कर रहे हैं।

यूपी में होती है फोटो मिक्सिंग

फर्जीवाड़े का खेल असल अभ्यर्थी व उसकी जगह बैठने वाले मेडिकोज की फोटो मिक्सिंग पर टिका होता है। यह मिक्सिंग डॉ. खुर्शीद की देखरेख में होती है। मिक्सिंग के लिए भी कम्प्युटर के जानकार रखे गए हैं। प्रत्येक केस में आधार कार्ड के साथ फोटो मिक्सिंग करने की एवज में प्रति केस तीन हजार रुपए दिए जाते हैं। इसके बाद डॉ. खुर्शीद ही विद्यार्थियों के फार्म भरवाने व सेंटर तय करता है।
सैनी ने लगाई बड़ी छलांग

पुलिस गिरफ्त में आया दलाल महेन्द्र सैनी इस सारे मामले का बड़ा किरदार है। महेन्द्र सैनी सीधे डॉ. खुर्शीद के सम्पर्क में है। प्रदेश में जयपुर और सीकर के आसपास के अभ्यर्थी महेन्द्र सैनी ही डॉ. खुर्शीद तक लेकर जाता है। जानकारी अनुसार महज 12वीं पास सैनी ने हाल ही जयपुर में जमीन का बड़ा सौदा किया है। वहीं करोड़ों की कीमत का आलीशान बंगला बना रहा है। इसी तरह दिल्ली में अर्पित स्वामी, कोटा में डॉ. राजन राजगुरू और मोहम्मद तंजील मेडिकल के छात्र व कमजोर विद्यार्थियों को ढूंढकर शॉर्टकट से पैसा बना रहे थे।

इनका कहना है...
गिरोह की अहम कड़ी के रूप में डॉ. खुर्शीद का नाम आया है जो अब तक पकड़े गए दलाल के मार्फत काम करता है। गठित टीम की कार्रवाई लगातार जारी है। आगामी दिनों में गिरोह के अन्य सदस्यों को भी पकड़ा जाएगा।

एस.सेंगाथिर, पुलिस महानिरीक्षक अजमेर रेंज

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned