scriptEffect of fluorosis on 80 lakh population in the state | प्रदेश में 80 लाख की आबादी पर फ्लोरोसिस का असर | Patrika News

प्रदेश में 80 लाख की आबादी पर फ्लोरोसिस का असर

हजारों गांवों को नही मिल रही फ्लोरोसिस से निजात, पेयजल परियोजनाओं के बावजूद नहीं सुधर रहे हालात

अजमेर

Published: November 02, 2021 02:00:45 am

चन्द्र प्रकाश जोशी

अजमेर. लाख कोशिशें और लगातार किए जा रहे सरकारी दावों और घोषणाओं के बावजूद राजस्थान फ्लोराइड के दंश से मुक्त नहीं हो पा रहा है। प्रदेश के 16 हजार से अधिक गांवों की 80 लाख की आबादी में फ्लोराइड युक्त पानी पीने की मजबूरी के चलते फ्लोरोसिस की समस्या बरकरार है। इन सभी गांवों के पारंपरिक पेयजल स्त्रोत, हैंडपंप, ट्यूबवेल फ्लोराइडयुक्त पानी उगल रहे हैं। इन गांवों में ग्रामीणों के दंतरोग और समय से पहले बुढ़ाती अस्थियों से विकृत होती देह हालात को डरावना बना रही है।
प्रदेश में 80 लाख की आबादी पर फ्लोरोसिस का असर
प्रदेश में 80 लाख की आबादी पर फ्लोरोसिस का असर
प्रदेश में फ्लोराइडयुक्त पानी से निजात के लिए कई पेयजल परियोजनाएं प्रारंभ हुई। मगर कुछ दम तोड़ चुकी हैं तो कुछ वर्षा कम होने से सिरे नहीं चढ़ रहीं। फ्लोराइडयुक्त पानी से बचने के लिए वर्षाजल का संग्रहण एवं उसे सहेजना ही सबसे कारगर उपाय है। कुछ गांवों में सरकारी योजनाओं के माध्यम से फ्लोराइड मुक्त पेयजल उपलब्ध करवाने के प्रयास किए गए जो नकाफी रहे। कुछ माह बाद फिर से ग्रामीणों को वही पारंपरिक जलस्त्रोतों पर निर्भर रहना पड़ रहा है।
एक अध्ययन के आधार पर जुटाए गए आंकड़ों के अनुसार अजमेर जिले सहित प्रदेश के कई जिलों में भू-जल स्तर गहराने के साथ पानी में फ्लोराइड की मात्रा लगातार बढ़ रही है। जो आंकड़े सामने आए हैं वे इसकी भयावहता को बयां करने के लिए काफी हैं।
आंकड़ों में देखें फ्लोराइड का असर. .
-16,560 गांव राजस्थान में फ्लोराइडयुक्त पानी पीने को मजबूर
-80 लाख की आबादी फ्लोराइडयुक्त पानी पीने को विवश

-24,405 गांवों के भूजल में 1.5 पीपीएम से अधिक फ्लोराइड

-6018 में से 553 में भूजल में फ्लोराइड की मात्रा 0.5 पीपीएम से कम
-34.61 फीसदी गांवों में उच्च फ्लोराइड प्रदूषण
-42 प्रतिशत गांव राजस्थान के हैं देश के कुल खारे पानी के गांवों में

-9.19 प्रतिशत गांव प्रदेश में ऐसे जो भूजल में फ्लोराइड की मात्रा बढऩे से परेशान

जिला प्रभावित जनसंख्या
नागौर 895344
भीलवाड़ा 490932

जोधपुर 476040
जयपुर 474396

बांसवाड़ा 455178
बाड़मेर 392604

जालोर 63128 378768
अजमेर 377778

सिरोही 328362
झुंझुनूं 324594

वर्षाजल संग्रह को हौद बनाएं

वर्षाजल का संग्रहण फ्लोरोसिस से निजात दिला सकता है। फ्लोराइड मुक्त पानी के लिए वर्षाजल का संग्रहण आवश्यक है। घर, सरकारी कार्यालयों में जल संग्रहण टैंक बनाकर भवनों की छतों का पानी सीधे टैंक में पहुंचाने से पांच-छह माह तक आपूर्ति हो सकती है।
इनका कहना है

फ्लोरोसिस बीमारी का इलाज नहीं है। जिन गांवों में फ्लोराइडयुक्त पानी है और वे सेवन करते हैं तो दूध, दही, छाछ एवं खट्टे फल का अधिकाधिक उपयोग करें ताकि कैल्सियम एवं विटामिन शरीर को पर्याप्त मात्रा में मिल सके। फ्लोरोसिस पीडि़त काला नमक, काली चाय का इस्तेमाल नहीं करें। चिकित्सा संस्थानों में विटामिन डी व विटामिन सी की गोली नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है।
जितेन्द्र हरचंदानी

जिला सलाहकार, फ्लोरोसिस नियंत्रण कार्यक्रम अजमेर

............................

बॉक्स....राष्ट्रीय जल जीवन मिशन योजना से उम्मीद

केन्द्र सरकार की ओर से जल जीवन मिशन योजना के तहत घर-घर कनेक्शन देकर जल पहुंचाने की योजना है। इसके तहत राजस्थान के सैकड़ों गांवों में करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। लेकिन राजस्थान में जल जीवन मिशन योजना की गति धीमी है। सांसद भागीरथ चौधरी के अनुसार जल जीवन मिशन योजना में केन्द्र सरकार की ओर से जारी बजट का 40 फीसदी भी राज्य सरकार काम में नहीं ले सकी है। फ्लोराइड प्रभवित गांवों में घर-घर जल कनेक्शन मिलने से फ्लोरोसिस बीमारी से निजात मिलने की उम्मीद है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.