सरकारी कार्यालय में बिना मास्क दिखे तो लगेगा जुर्माना

कार्यालय प्रभारी होंगे जिम्मेदार
अब तक 200 मामलों में कार्यवाही

1.35 लाख का जुर्माना वसूला

By: bhupendra singh

Published: 20 Jul 2020, 08:04 AM IST

अजमेर. जिले के सरकारी government officeऔर निजी कार्यालयों में कोई भी कार्मिक बिना मास्क masksके नजर आया तो उसे जुर्माना भुगतना पड़ेगा। जिला प्रशासन ने सभी कार्यालय के प्रभारियों को कार्यस्थलों पर कोविड-19 की गाइड लाइन की पालना कराने के निर्देश दिए हैं। कार्यस्थल पर सभीकार्मिक व अन्य लोग फेस मास्क पहनें तथा समुचित सामाजिक दूरी की पालना करें इसकी जिम्मेदारी कार्यालय प्रभारी की होगी। उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगाया जाए। सामाजिक स्थानों एवं परिवहन में सामाजिक दूरी की पालना नहीं करने वालों से भी जुर्माना वसूला जाए। जिले में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने,थूकने,गुटका खाने आदि को लेकर 200 मामलों में 1 लाख 35 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जा चुका है। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए मास्क,दो गज की दूरी की पालना,खुले में थूकने पर पाबंदी आदि की पालना के लिए गाइड लाइन जारी की गई है, नियमों की अवहेलना पर जुर्माने का प्रावधान है।

एडीएम ने सभी विभागों को दिए निर्देश

एडीएम सिटी के अनुसार सभी विभागों को कोविड-19 की गाइड लाइन के उल्लंघन पर जुर्माना लगाने के लिए पत्र लिखा गया है। कोरोना संक्रमण से जुड़ी सामान्य सुरक्षा सावधानियों की क्रियान्विती आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 तथा राजस्थान महामारी अध्यादेश 2020 के अन्र्तगत प्रावधानों के उल्लंघन पर कार्यवाही की जाए। निजी,औद्योगिक तथा अन्य संस्थानों व कार्यालयों में नियमों की पालना के लिए सख्ती करनी होगी।

पत्र नहीं पहुंचा, जुर्माना किस एक्ट में वसूलें पता नहीं

जिला प्रशासन ने भले ही कोविड-19 की गाइड लाइन के उल्लंघन पर जुर्माना लगाने के लिए पत्र जारी कर दिया लेकिन जिले के अधिकतर विभागों में यह पत्र पहुंचा ही नहीं है। वहीं यह भी स्पष्ट नहीं है कि विभाग किस अधिकार व एक्ट के तहत जुर्माना वसूल करें। नगर निगम अधिकारियों का कहना है कि उन्हें अब तक पत्र नहीं मिला है। हमे क्या पावर है यह भी पता नहीं है। वहीं एडीए अधिकारियों ने भी जिला प्रशासन का पत्र मिलने से इनकार किया है। साथ ही यह भी कहना है कि हम जुर्माना कैसे लगा सकते हैं। हम एम्पावर्ड ही नहीं है। जुर्माना अधिकृत सरकारी एजेंसी या पुलिस लगाए। इन दोनों ही विभागों में सैकड़ों कर्मचारियों व आमजन की आवाजाही होती है।

इनका कहना है

एसडीएम,तहसीलदार व पुलिस को निर्देश दिए गए है। सरकार ने जो एसओपी जारी की है,उसकी पालना सभी को करनी है। सभी कार्यालय प्रभारी कोविड-19 गाइड लाइन की पालना करवाएं, जो भी कार्मिक इसकी पालना नहीं करते हैं उन्हें नोटिस जारी कर हमें सूचित करें।

विशाल दवे,अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर)अजमेर

read more:कलक्टर ने बनाया एक्शन प्लान, हर बुधवार शहर के नाम

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned