नहीं जाना पड़ेगा अब जयपुर एयरपोर्ट, किशनगढ़ से चलेगी दिल्ली की फ्लाइट

raktim tiwari

Publish: Oct, 13 2017 04:20:58 (IST)

Ajmer, Rajasthan, India
नहीं जाना पड़ेगा अब जयपुर एयरपोर्ट, किशनगढ़ से चलेगी दिल्ली की फ्लाइट

किशनगढ़ एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए फ्लाइट पकड़ सकेंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं।

अब आपको दिल्ली या किसी दूसरे शहर जाने के लिए जयपुर के सांगानेर एयरपोर्ट जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दिवाली के बाद किशनगढ़ एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए फ्लाइट पकड़ सकेंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं।

किशनगढ़ एयरपोर्ट का 11 अक्टूबर को केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा और मुख्यंमत्री ने उद्घाटन किया था। दोनों एक चार्टर प्लेन से किशनगढ़ आए थे। अब किशनगढ़ एयरपोर्ट से अधिकारिक रूप से फ्लाइट्स की आवाजाही शुरू होने वाली है। एयरपोर्ट के डाइरेक्टर अशओक कपूर ने बताया कि 24 अक्टूबर या इसके बाद दिल्ली-किशनगढ़ के लिए पहली फ्लाइट चलनी शुरू होगी। इसका समय सुबह 7 बजे के आसपास होगा। यह फ्लाइट जूम एयरलाइन्स की होगी। इसके लिए एमओयू हो गया है।

जेट और हेलीकॉप्टर के लिए तैयार

कपूर ने बताया कि प्राइवेट जेट और हैलीकॉप्टर को उतारने के लिए किशनगढ़ एयरपोर्ट पूरी तरह से तैयार हैं। यहां कभी भी जेट और हैलीकॉप्टर उतारे जा सकते हैं। तमाम इन्टरनेशनल नियमों के हिसाब से एयरपोर्ट बनाया गया है। यहां भविष्य में फ्लाइट्स की आवाजाही बढऩे और आवश्यकताओं को देखते हुए रनवे बनाया गया है।

सिग्नल मिलते ही वीवीआईपी लैंडिंग

एटीसी के जूनियर एक्जिक्यूटिव ने बताया कि यह पहला मौका है जबकि एटीसी के निर्देश पर किशनगढ़ एयरपोर्ट पर किसी यात्री विमान का लैंडिंग टेकऑफ किया गया है। डीजीसीए द्वारा लाइसेंस जारी करने के बाद रीजनल हैडक्वार्टर के आदेश पर एटीसी ऑपरेशनल हो गया है। एटीसी तीन अलग-अलग फ्रीक्वेन्सी पर काम करता है। जिसमें मेन फ्रीक्वेन्सी 118.20 मेगा हर्टज, स्टेंड बाय फ्रीक्वेन्सी 118.450, इमरजेंसी फ्रीक्वेन्सी 121.5 मेगा हर्टज पर काम करता है। एटीसी में वेरी हाई फ्रीक्वेन्सी (वीएचएफ) के जरिए पुश टू टॉक सिस्टम से पायलट को निर्देश दिए जाते हैं। जबकि एयरपोर्ट स्टाफ वॉकी-टॉकी से कनेक्टिविटी करता है। रात्रि में प्रक्रिया के लिए एयरफील्ड लाइटनिंग और मॉनिटरिंग सिस्टम से काम होता है।

700 केवीओ से जगमगाएगा एयरपोर्ट

किशनगढ़ एयरपोर्ट 7 सौ केवीए से जगमगाएगा। पूरे एयरपोर्ट में एलईडी व कई तरह की आधुनिक लाइट लगाई गई हैं। हवाई अड्डे के रनवे पर भी संचालन को बताने वाली लाइट्स और आधुनिक प्रणाली फिट की गई है। एयरपोर्ट के सुचारू संचालन के लिए रनवे लाइट जरूरी है। रनवे पर प्रसेशन अप्रोच, पथ इंडिकेटर लाइट, सिंपल अप्रोच लाइट सिस्टम का होना जरूरी है। 36 हजार मीटर में लाइट लगाई गई है।

किशनगढ़ एयरपोर्ट एक नजर...

स्वीकृत राशिस-186 करोड़

अब तक खर्च-135 करोड़

इकाओ कोड-वीआईकेजी

फायर केटेगरी-5

एयरपोर्ट केटेगरी-संवदेनशील

आईटाकोड केक्यूएच-टिकट इसी नाम से होंगे बुक

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned