'मुन्नाभाई' की परीक्षा देने वाला जालसाज गिरफ्तार

सीआरपीएफ जीडी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में चौथा आरोपी बिहार से पकड़ा, पुलिस को ग्यारह महीने से थी आरोपी की तलाश, दलाल सहित तीन पहले ही पकड़े

By: manish Singh

Published: 05 Dec 2020, 10:56 PM IST

अजमेर. केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल जीडी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में शारीरिक दक्षता परीक्षा में पकड़े गए 'मुन्नाभाईÓ के स्थान पर लिखित परीक्षा देने वाले फर्जी अभ्यर्थी को अलवरगेट थाना पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पुलिस को ग्यारह माह से तलाश थी। इससे पूर्व पुलिस इस मामले में दो दलाल व भर्ती होने आए मुख्य आरोपी युवक को गिरफ्तार कर चुकी है। पुलिस आरोपी से गहनता से पड़ताल में जुटी है।
थानाप्रभारी सुनीता गुर्जर ने बताया कि 28 जनवरी को दर्ज मामले में फरार आरोपी बिहार भागलपुर सुलतानगंज फतेहपुर निवासी राहुल कुमार (32) पुत्र रामदेव मंडल को उपनिरीक्षक दातार सिंह मेड़तिया शनिवार को बिहार से गिरफ्तार कर लाए।

यूं किया था फर्जीवाड़ा

आरोपी ने शारीरिक दक्षता परीक्षा में भर्ती होने आए राकेशचन्द गुर्जर(26) की जगह लिखित परीक्षा दी थी। जबकि शारीरिक दक्षता में राकेश स्वयं आ गया। जहां आरोपी की फोटो व बायोमैट्रिक में दाहिने हाथ का अंगूठा निशान मिलान नहीं हुआ। पुलिस ने ग्रुप केन्द्र-प्रथम के इंस्पेक्टर उत्तम कुमार शर्मा की रिपोर्ट पर 28 जनवरी को धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया था। तब मामले में फिजिकल टैस्ट देने आए अलवर के टहला सक्काला हाल नगला निवासी राकेशचन्द गुर्जर (26) पुत्र गोवर्धन गुर्जर, उसकी निशानदेही पर गिरोह के दलाल दौसा बसवा गुढ़ा कटला निवासी हरीकिशन माली और अलवर राजगढ़ कानेटी हाल नई दिल्ली पुष्प विहार सेक्टर नम्बर 4 निवासी मनमोहन मीणा को गिरफ्तार किया। प्रकरण में तब से पुलिस को मुख्य आरोपी राकेशचन्द की तलाश थी। कार्रवाई में सिपाही जगदीश, सुधीर कुमार, संतोष कुमार और धनपाल शामिल है।
ऐसे बनाते थे चेन

एसआई मेड़तिया ने बताया कि दलाल हरिकिशन माली रुपए लेकर लिखित परीक्षा में अन्य लड़कों को बैठाकर परीक्षा दिलाता है। सीआरपीएफ ग्रुप केन्द्र-प्रथम की जीडी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए अभ्यर्थी राकेश चन्द गुर्जर ने हरिकिशन को डेढ़ लाख रुपए दिए। दलाल हरिकिशन ने दिल्ली में प्राइवेट जॉब करने वाले मनमोहन मीणा से सम्पर्क किया। उसने उसे एक लाख रुपए देकर मूलरूप से बिहार हाल दिल्ली में रहने वाले राहुल कुमार से मिलाया। उसने राहुल को लिखित परीक्षा में शामिल होने की एवज में 25 हजार रुपए दिए। प्रकरण में हरिकिशन और मनमोहन मीणा ने दलाल की भूमिका निभाई।

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned