रात को दोस्त ने फोन कर बुलाया,दूसरे दिन खदान में मिला शव, परिजन ने जताई हत्या की आशंका

crime nred

मृतक सीकर जिले के बीदासर गांव निवासी,शव के शरीर पर गहरे चोट के निशान, प्रथम दृष्टया हत्या के बाद शव खदान में फेंकने की आशंका,सोशल मीडिया पर शव की खबर मिलने पर परिजन मौके पर पहुंचे

By: suresh bharti

Published: 13 Nov 2020, 12:58 AM IST

अजमेर/झुंझुनूं. पहले दोस्त ने मोबाइल पर फोन कर बुलाया। बाद में हत्या कर शव फेंकने का सनसनी मामला प्रकाश में आया है। झुंझुनूं जिले के गांव सांगासी के जोहड़ में गुरुवार को युवक का शव मिलने पर काफी लोग मौके पर एकत्र हो गए। शव की सूचना पर मुकुंदगढ़ थानाप्रभारी रामस्वरूप बराला जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे। शव को कब्जे में लेकर शिनाख्तगी की।

जांच में जुटी पुलिस

शव की सूचना पर एएसपी वीरेंद्र मीणा, नवलगढ़ डिप्टी सतपाल सिंह, नवलगढ़ सीआई जयप्रकाश बेनीवाल आदि भी मौके पर पहुंचे। शव पर धारदार हथियार से कई वार किए जाने से चोट के निशान हैं। पुलिस की प्रारंभिक जांच में मामला हत्या का प्रतीत हुआ है। इसके चलते झुंझुनूं से आए डॉग स्कवायड, एमओबी और एफएसएल टीमों ने साक्ष्य जुटाए। जोहड़ में शव के पास मोटरसाइकिल के टायरों व जूतों के निशान से आशंका जताई जा रही कि युवक की हत्या करने के बाद शव को मोटरसाइकिल पर लाकर यहां पटका गया है।
पुलिस ने शव को राजकीय अस्पताल मुकुंदगढ़ की मोर्चरी में रखवाया है। थानाप्रभारी बराला ने बताया कि शव की शिनाख्त सीकर जिले के बलारा थाना क्षेत्र के गांव बीदासर निवासी विजेंद्र नायक (23) के रूप में की गई है। परिजन के यहां पहुंचने के बाद शाम को मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करा शव परिजन को सौंप दिया।

अभी आ रहा हूं....कहकर गया था

मृतक के भाई मातादीन नायक ने पुलिस थाने में हत्या का मामला दर्ज करवाया है। इसमें बताया कि मृतक विजेंद्र अविवाहित था। बुधवार रात वह खाना खाकर उसके साथ कमरे में सोया था। रात करीब 10-11 बजे विजेंद्र के मोबाइल पर किसी का फोन आया। तब उसने कहा कि मैं अभी आ रहा हूं। उसके बाद उसे नींद आ गई। सुबह वह कमरे में नहीं मिला तो परिजन ने उसकी तलाश शुरू की। उसके मोबाइल पर फोन किया तो वह स्विच ऑफ मिला।

इस दौरान सोशल मीडिया पर गांव सांगासी जोहड़ में शव पड़े होने की जानकारी मिली। तब वहां पहुंचने पर शव की शिनाख्त की। ंमृतक के दो मोबाइल, पर्स,रुपए व कागजात आदि भी नहीं मिले। रिपोर्ट के मुताबिक मृतक ट्रैक्टर चालक था। करीब 10-15 दिन से उसने काम छोड़ दिया था और घर पर ही रहता था। मृतक के भाई ने आरोप लगाया कि किसी ने विजेंद्र को घर से बुलाकर उसकी हत्या की। बाद में शव को जोहड़ के खदानों में पटक दिया।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned