Get Safe Go Campaign : दुकानों पर सबकी सुरक्षा के लिए इंतजाम

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दुकानदारों ने किए नवाचार
ग्राहक को सामान देने और पैसे लेने की एक को दी जिम्मेदारी

By: himanshu dhawal

Published: 12 Nov 2020, 07:21 PM IST

अजमेर. बाजारों में दीपावली पर खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। दुकान हो या शोरूम, सभी पर खरीदारी के लिए लोगों को हुजूम उमड़ रहा है। ऐसे में दुकानदार अपने-अपने स्तर पर ही कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रयास कर रहे हैं। ग्राहकों के हैंड सेनिटाइज करवाने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है, तो कहीं दुकानों पर रस्सी बांधकर ग्राहक और दुकानदारों के बीच दूरी रखने का प्रयास किया जा रहा है। राजस्थान पत्रिका के गेट सेफ गो अभियान के तहत बाजारों के जाने हालात।

केस 1

काउंटर तक आने की मनाही

शहर के पड़ाव स्थित इलेक्ट्रोनिक्स की दुकान पर रंग-बिरंगी लाइटों की खरीददारी के लिए ग्राहकों की भीड़ उमड़ रही है। इसके बावजूद दुकानदार मनदीप सिंह ने कोरोना संक्रमण से स्वयं और ग्राहकों को बचाने के लिए काउंटर से करीब पांच - छह फीट की दूरी पर रस्सी बांध रखी है। ग्राहकों को भी रस्सी के अंदर प्रवेश नहीं करने देते। ग्राहक को दूर से माल दिखाकर दूर से पैसे लेते हैं। सामान को बदलने की प्रक्रिया को बंद कर रखा है।

केस 2

सूची से देते हैं सामान

पड़़ाव स्थित परचूनी की दुकान पर भी रस्सी बांध कर दुकानदार और ग्राहकों के बीच दूरी बनाई गई है। दुकानदार पुरुषोतम पंजवानी ने बताया कि ग्राहक के आने पर उससे सामान की सूची लेकर दुकान पर काम करने वाले लडक़े को दे देते हैं। वह सामान को थैले में भरकर काउंटर पर रख देता है। पैसे लेने के लिए अलग से व्यवस्था कर रखी है। ग्राहक का मास्क लगा होने के बावजूद रस्सी के अंदर घुसने नहीं देते।

केस 3
ग्लव्स पहनता है स्टाफ

लंगरखाना स्थित मिठाई की दुकान पर भी ग्राहकों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाता है। दरगाह होने के कारण जायरीन के यहां पर आने पर दुकान में प्रवेश करने से पहले ही हाथ सेनिटाइज कराए जाते हैं। दुकानदार कमर जमीर ने बताया कि बिना हैंड सेनिटाइज किसी को प्रवेश नहीं दिया जाता। स्टाफ भी हाथ में दस्ताने पहने रहता है। ग्राहक को मिठाई पर हाथ लगाने नहीं दिया जाता।

himanshu dhawal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned