सरवाड़ में कांग्रेस ने पिछला बदला चुकाया, घीसी देवी बनी प्रधान

पंचायतीराज चुनाव : अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित था इस बार प्रधान पद, गुर्जर को 8 और प्रतिद्वंद्वी भागचंद सोनी को 7 वोट मिले

By: dinesh sharma

Published: 11 Dec 2020, 03:59 AM IST

सरवाड़ ( अजमेर ) . पंचायत समिति में प्रधान के चुनाव में पिछली हार का बदला चुकाते हुए कांग्रेस ने बाजी मार ली। कांग्रेस ने वार्ड संख्या 6 से निर्वाचित सदस्य घीसी देवी गुर्जर पर भरोसा जताया और प्रधान के लिए चुनाव मैदान में उतारा। आखिर में यह फैसला सही साबित हुआ और प्रधान का सेहरा उनके सिर बांधा।

पंचायत समिति प्रधान का पद इस बार यहां अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित था। इस बार प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में गुर्जर ने भाजपा के प्रत्याशी भागचंद सोनी को 1 वोट से हराया। गुर्जर को 8 व सोनी को 7 वोट मिले। गुर्जर के प्रधान पद पर जीत की घोषणा होते ही पंचायत समिति परिसर के बाहर कांग्रेस व रघु शर्मा जिंदाबाद के नारे लगना शुरू हो गए। कार्यकर्ताओं ने गुर्जर के परिजन को फू ल-मालाओं से लाद दिया।

पहले ली शपथ

प्रधान के लिए नामांकन से पूर्व भाजपा व कांग्रेस के सभी उम्मीदवार यहां पंचायत समिति कार्यालय पहुंचे और पंचायत समिति सदस्य की शपथ ली। इसके बाद भाजपा की ओर से प्रभारी सरिता गैना, राधेश्याम पोरवाल व शैलेन्द्र जैन की अगुवाई में भागचंद सोनी, रेखा चौधरी व सरिता गुर्जर ने प्रधान के लिए अपना नामांकन रिटनिंग अधिकारी मुरारीलाल वर्मा के समक्ष पेश किया।

इसके थोड़ी देर बाद ही कांग्रेस की ओर से प्रभारी शक्तिप्रताप सिंह राठौड़, प्रधान धाकड़ व रामस्वरूप प्रजापति की अगुवाई में घीसी देवी गुर्जर ने नामांकन पेश किया। नामांकन पत्रों की जांच के दौरान भाजपा के दो प्रत्याशी रेखा चौधरी व सरिता गुर्जर का नामांकन निरस्त हो गया।

बाद में मतदान कराया गया, जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी घीसी देवी गुर्जर ने भाजपा के भागचंद सोनी को 1 मत से हराया। बाद में रिटर्निंग अधिकारी वर्मा ने प्रधान गुर्जर को निर्वाचन पत्र सौंपा।

किया मतदान

पहले कांग्रेस की ओर से घीसी देवी गुर्जर, आनंद मेघवंशी, शशि लोधा, ममता कुमारी जाट, रामस्वरूप खारोल, कमलेश बैरवा, गोपाल धाकड़ व पिंकी टॉक ने मतदान किया। बाद में भाजपा की ओर से भागचंद सोनी, रामनिवास भील, रेखा चौधरी, सरिता गुर्जर, हनुमान बैरवा, लीला देवी खटीक व कंचन देवी जाट ने मतदान किया। मतदान के तुरंत बाद प्रत्याशी समूह रूप में ही मतदान केन्द्र के बाहर निकले।

कड़े सुरक्षा इंतजाम

प्रधान के चुनाव को लेकर पंचायत समिति कार्यालय से लेकर बाहर कोटा रोड तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात किए हुए थे। सरवाड़ थाना प्रभारी चंद्रप्रकाश यादव जाप्ते के साथ पूरे दिन मौके पर मौजूद रहे।

लाबिंग रही सफल

पंचायत समिति में कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में घीसी देवी गुर्जर का नाम अप्रत्याशित रूप से सामने आया। उनके पक्ष में देव सेना सहित संबंधित वार्ड के कांग्रेस नेताओं की चिकित्सा मंत्री के समक्ष की गई पैरवी का ही परिणाम रहा कि पार्टी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया।

उन्हें प्रधान बनाने के पीछे कांग्रेस आलाकमान का इलाके के बड़ी संख्या में गुर्जर मतदाताओं को नाराज नहीं करने का भी कारण प्रमुख रहा है। खीरियां से दूसरी बार प्रधानसरवाड़ पंचायत समिति में प्रधान पद पर निर्वाचित ग्राम खीरियां निवासी घीसी देवी गुर्जर से पूर्व इसी गांव के हरिराम तोषनीवाल भी पंचायत समिति अरांई के प्रधान रह चुके हैं। तोषनीवाल वर्ष 1981 में अरांई के निर्विरोध प्रधान बने और 1986 तक वे इस पद पर काबिज रहे।

dinesh sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned