Good news: डीएफसीसी ट्रेक पर दौड़ी मालगाड़ी, 2019 में मिलेगी रेलवे को ये सौगात

www.patriia.com/rajasthan-news

By: raktim tiwari

Published: 30 Dec 2018, 08:33 PM IST

अजमेर/ मदनगंज-किशनगढ़.

डेडिकेटेड फे्रट कॉरिडोर कॉर्पोरेशन (डीएफसीसी) के ट्रेक पर मदार से न्यू रेवाड़ी तक मालगाड़ी की तेज गति से ट्रायल रविवार को हुई। मदार रेलवे स्टेशन पर अजमेर मंडल रेल प्रबंधक राजेशकुमार कश्यप, अपर मंडल रेल प्रबंधक सुनील अग्रवाल व मनीष गुप्ता ने हरी झंडी दिखाकर मालगाड़ी को रवाना किया। यह मालगाड़ी सुबह करीब 10.25 बजे पुराना रेलवे स्टेशन स्थित डीएफसीसी के ट्रेक से गुजरी।

डीएफसीसी के नए ट्रेक पर मालगाड़ी चलने की जानकारी मिलते ही देखने वालों की भीड़ लग गई। डेडिकेटेड फे्रट कॉरिडोर (डीएफसीसी) के तहत दिल्ली से मुम्बई के बीच मालगाडिय़ों के लिए अलग से रेलवे ट्रेक बिछाया जा रहा है। इसके तहत मंडावरिया से मदार तक अप और डाउन ट्रेक बिछाया गया है। नए बिछाए डाउन ट्रेक पर रविवार को सुबह करीब 9.40 बजे ट्रायल मालगाड़ी रवाना हुई।

साखुन से विधिवत रवानगी मदार और किशनगढ़ बालावास (हरियाणा) स्टेशन के बीच इस नए पूर्ण किए गए पश्चिमी डीएफसी पर मालगाड़ी की ट्रायल रन का विधिवत उद्घाटन जयपुर के न्यू साखुन स्टेशन पर किया गया। न्यू साखुन स्टेशन पर प्रबंध निदेशक अनुराग सचान, निदेशक/अवसंरचना डी.एस. राणा, निदेशक परिचालन एवं व्यवसाय विकास नवीन कुमार शुक्ला, डीआरएम जयपुर सौम्या माथुर के आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। इसके बाद ट्रेन को रेवाड़ी के लिए रवाना किया गया।

9 नए फ्रेड स्टेशन

वेस्टर्न डीएफसी पर मदार (राजस्थान) से किशनगढ़ बालावास (हरियाणा) सेक्शन में मालगाड़ी का सफल संचालन किया गया। यह डीएफसीसी के वेस्टर्न कॉरिडोर के पहले चरण का भाग है। इस 306 किलोमीटर सेक्शन में 6 क्रॉसिंग स्टेशन हैं। इसमें डबला, भगेगा, श्रीमाधोपुर, पचार, मलिकपुर, शखुन और किशनगढ़ सहित 9 नए फ्रेड स्टेशन और तीन जंक्शन स्टेशन (रेवाड़ी, अटेली और फुलेरा) बनाए गए हैं।

अप टे्रक की कमियों को करेंगे पूरा

डाउन ट्रेक पर ट्रायल मालगाड़ी दौडऩे के बाद अब अप ट्रेक की कमियों को पूरा करने का कार्य किया जाएगा। इसमें कुछ स्थानों पर गत दिनों ही ट्रेक बिछाया गया है। उसकी कमियों को पूरा किया जाएगा। विद्युतीकरण के कार्य को भी तेज किया जाएगा। इसके तहत अभी केबल आदि बिछाई जा रही है। इसके बाद उक्त ट्रेक पर भी ट्रायल मालगाड़ी आदि चलाया जाना प्रस्तावित है।

306 किमी लंबा ट्रेक

मदार से रेवाड़ी के बीच लगभग 306 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन का कार्य हाल ही में पूरा हुआ है। पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डीएफसी) के तहत मुम्बई से दिल्ली के बीच नई रेलवे लाइन बिछाने की योजना प्रस्तावित है। इसके तहत प्रथम चरण में मदार से रेवाड़ी के बीच विद्युतीकृत रेल लाइन बिछाई जा चुकी है। रेलवे में मौजूद समय में मालगाडिय़ों की औसत रफ्तार 26 किलोमीटर प्रति घंटे की फ्रेट कॉरिडोर पर मालगाडिय़ों को 100 की स्पीड से चलाया जाएगा। मुम्बई से दिल्ली के बीच यह परियोजना पूरी होने के बाद मौजूदा रेल लाइन से मालगाडिय़ां हट जाएगी और वे नए ट्रेक पर संचालित की जाएगी। इस परियोजना के लिए जापानी कंपनी जापान इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन एजेंसी की ओर से वित्तीय सहायता दी जा रही है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned