scriptरटने की प्रवृत्ति में हो बदलाव, शोध आधारित बनें कोर्स: राज्यपाल मिश्र | Governor Kalraj Mishra in the 11th convocation of Maharishi Dayanand Saraswati University, Rajasthan | Patrika News
अजमेर

रटने की प्रवृत्ति में हो बदलाव, शोध आधारित बनें कोर्स: राज्यपाल मिश्र

राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के 11वें दीक्षांत समारोह कहा कि शिक्षण पद्धति में बदलाव के लिए रटने की प्रवृत्ति खत्म करनी जरूरी है। पाठ्यक्रम शोध और कौशल आधारित बनें इसके लिए विश्वविद्यालयों को व्यापक कार्य करना चाहिए।

अजमेरJun 16, 2024 / 06:53 pm

Suman Saurabh

Governor Kalraj Mishra in the 11th convocation of Maharishi Dayanand Saraswati University, Rajasthan

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के 11वें दीक्षांत समारोह में राज्यपाल कलराज मिश्र।

अजमेर। शिक्षण पद्धति में बदलाव के लिए रटने की प्रवृत्ति खत्म करनी जरूरी है। पाठ्यक्रम शोध और कौशल आधारित बनें इसके लिए विश्वविद्यालयों को व्यापक कार्य करना चाहिए। यह बात राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र ने शनिवार को महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के 11वें दीक्षांत समारोह में कही। उन्होंने 45 विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक, एक कुलाधिपति पदक और 165 शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधियां वितरित की।

उन्होंने कहा कि पाठ्यक्रम ऐसे होने चाहिए, जिन्हें पढ़ने और डिग्री लेने के बाद विद्यार्थी नौकरी तक सीमित रहने की बजाय नियोक्ता बनकर दूसरों की मदद करने वाले बनें। इससे पूर्व कुलपति प्रो. अनिल कुमार शुक्ला ने प्रतिवेदन पेश किया।

राष्ट्र निर्माण में सहयोग दें : विधानसभा अध्यक्ष वासुदेव देवनानी कहा कि शिक्षा का कभी अंत नहीं हो सकता है। दीक्षांत का प्रभाव दीक्षित होने और जीवन मूल्यों की शुरुआत से जुड़ा होता है। उप मुयमंत्री डॉ. प्रेमचंद बैरवा ने कहा कि जीवन में चुनौतियों से युवाओं को घबराने, तनावग्रस्त होने की बजाय बुलंद हौसले से लक्ष्य का पीछा करना चाहिए। जल संसाधन मंत्री सुरेश सिंह रावत ने भी विचार रखे।

Hindi News/ Ajmer / रटने की प्रवृत्ति में हो बदलाव, शोध आधारित बनें कोर्स: राज्यपाल मिश्र

ट्रेंडिंग वीडियो