Health Care...खाने में लीजिए प्रोटीन Diet , इससे थमेगा बालों का झडऩा

Health Care...खाने में लीजिए प्रोटीन Diet , इससे थमेगा बालों का झडऩा

raktim tiwari | Publish: Apr, 12 2019 09:14:00 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

आखिर उसके बाल क्यों झड़ रहे हैं, कंघी के साथ बालों का लगातार गिरना उनकी चिंता को और बढ़ा देता है।

अजमेर.

स्वस्थ व्यक्ति एवं स्वस्थ महिला की पहचान में बालों का अपना महत्व है। किशोरी हों चाहे युवती, इनके जीवन में बालों का अहमियत सौन्दर्य से जुड़ जाता हैं। हर बेटी, मां उसके बालों को लेकर चिंतित रहती हैं कि आखिर उसके बाल क्यों झड़ रहे हैं, कंघी के साथ बालों का लगातार गिरना उनकी चिंता को और बढ़ा देता है। मगर अब समय रहते कुछ घरेलू नुस्खे एवं चिकित्सक की सलाह पर बालों की देखभाल करते हैं तो बालों का झडऩा थम जाएगा।

जीवनशैली में बदलाव एवं खान-पान पर अगर ध्यान दिया जाए तो बाल झडऩे एवं टूटने की समस्या से निजात पाई जा सकती है। बालों को पोषण स्वस्थ रहने के लिए आवश्यक भी हैं। एक दिन में औसतन 50 से सौ बालों तक लगातार झडऩा एवं टूटना गंजेपन की शुरुआत हो जाती है।

बाल टूटने एवं झडऩे के यह कारण

-बालों में ज्यादा शेम्पू का इस्तेमाल करना।

-बालों में कलर या डाई करवाना।
-केराटिन हेयर ट्रीटमेंट का चलन।

-बालों को स्टाइलिश बनाने के नए-नए तरीकों से नुकसान।
-दवाइयों के दुष्प्रभाव के कारण भी बाल झड़ते हैं।

महिलाओं में बाल झडऩे की खास वजह
-महिलाओं के शरीर के शरीर में खून की कमी।

-एनिमिया की कमी के चलते खून में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी से कोशिकाओं को ऑक्सीजन नहीं मिल पाता है।

-शरीर में थॉइराइड हार्मोन का स्राव कम होने से महिलाओं में बाल झडऩे की वजह मानी जाती है।
-महिलाओं में सामान्य व सर्जरी के माध्यम से प्रसव।

-अचानक वजन कम होना एवं बढऩा।

ऐले बचाएं बालों को झडऩे से

-बालों में अत्यधिक शैम्पू का प्रयोग नहीं करें।
-बालों में कलर (डाई) की बजाय मेहन्दी लगाएं।

-सप्ताह में कम से कम दो बार बादाम तेल, आंवला, नारियल या सरसों का तेल लगाकर मालिश करें।
-बालों को पोषण देने के लिए दही लगाएं।

खान-पान में बदलाव भी जरूरी

खान-पान में बचपन से ही ध्यान देने की आवश्यकता है। बालों को झडऩे व टूटने से बचाने के लिए विटामिन सी, विटामिन बी से युक्त खाद्य पदार्थ का अधिकाधिक उपयोग करें। वहीं प्रोटीन, आयरन, सल्फर एवं जिंक युक्त खाद्य पदार्थ का उपयोग करें। बालों को धूप से बचाने के लिए कपड़ा या स्कार्फ ढक कर रखें।


नियमित सौ बालों से अधिक झडऩे पर स्किन स्पेशलिस्ट को दिखाना चाहिए। कमजोरी, प्रेगनेंसी या खून की कमी से यह रोग संभव हैै। कई पर स्पॉट बन जाते हैं। कई बार महिलाएं व अन्य स्वयं नए तरीके ढूंढती हैं जबकि स्किन स्पेशलिस्ट से उपचार व सलाह लेनी चाहिए।

-डॉ. राजकुमार कोठीवाला, चर्म एवं रति रोग विशेषज्ञ जेएलएन

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned