scriptHeart Surgery: Heart operations with listening Music and song | Heart Surgery: अब म्यूजिक सुनते-गुनगुनाते कराते हैं हार्ट ऑपरेशन | Patrika News

Heart Surgery: अब म्यूजिक सुनते-गुनगुनाते कराते हैं हार्ट ऑपरेशन

मशीन से हार्ट एनलार्ज रोगियों को स्वस्थ रखना संभव। कम परिश्रम और असंतुलित खान-पान से बढ़ रहे हृदय रोगी।

अजमेर

Published: November 15, 2021 09:11:17 am

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

देश में हृदय रोग निदान की वल्र्ड क्लास तकनीक मौजूद हैं। अब बगैर चीरे के ऑपरेशन और हार्ट एनलार्ज से जुड़े मरीजों को आधुनिक हार्ट पम्प मशीन से अब 10 से 15 साल जीवित रखा जा सकता है। यह बात प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. अजीत बाना ने रविवार को राजस्थान पत्रिका से खास बातचीत में कही।
heart surgery in india
heart surgery in india
सवाल-हृदय रोग निदान की क्या आधुनिक तकनीक अब रोगियों-चिकित्सकों की मदद कर रही हैं।
डॉ.बाना-दस साल पहले तक हार्ट एनलार्ज वाले मरीजों के जीवन को खतरा बना रहता था। कई लोग अपने तर्कों से डराते थे। लेकिन अब हार्ट पम्प वाली अत्याधुनिक मशीन आ चुकी हैं। 60 लाख रुपए की यह मशीन ऑटोमेटिक है। इससे हार्ट एनलार्ज वाले मरीजों को 10 से 15 साल बचाना संभव हो गया है।
सवाल-हार्ट ऑपरेशन तकनीक और सर्जरी में क्या बदलाव आए हैं।
डॉ.बाना-देश में बिना चीरे, छोटे से चीरे अथवा हार्ट की पंपिंग चालू रहते ऑपरेशन शुरू हो चुके हैं। मरीज संगीत-श्लोक, मंत्र गुनगुनाते, टीवी देखते हुए ऑपरेशन करा सकते हैं। पूरा हार्ट खोलने अथवा बड़ी स्टिचिंग की जरूरत कम हो रही है। चिकित्सकों को भी सर्जरी में आसानी हो गई है।
सवाल-आप युवाओं में हृदय रोग बढऩे की असली वजह क्या मानते हैं।
डॉ. बाना-वास्तव में नौजवानों में हृदय रोग बढऩा चिंताजनक है। भारत में 4.8 प्रतिशत युवा हृदय रोग पीडि़त हैं। असंतुलित खान-पान, नौकरी-पेशे में तनाव, सैर और शारीरिक व्यायाम में कमी साफ दिख रही है। कन्नड़ अभिनेता पुनीत राजकुमार और बॉलीवुड अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला की युवावस्था में ही हृदय गति रुकने से मृत्यु हुई। यह बदलती लाइफ स्टाइफ और तनाव का कारक भी हैं।
सवाल-स्कूल में पढऩे वाले बच्चों अथवा शिशुओं में हृदय रोग बढऩे के क्या कारण हैं?
डॉ.बाना-बच्चों में हृदय रोग का एक कारण वंशानुगत या पैदाइश से होता है। इसमें बच्चा कमजोर हृदय अथवा संकुचित धमनियों के साथ जन्म लेता है। इसके अलावा बच्चों में कॅरियर के प्रति बढ़ती चिंता भी हृदय रोग बढ़ा रही है। खासतौर पर कोविड-19 में ऑनलाइन पढ़ाई, मोबाइल-लेपटॉप और अन्य गैजेट्स का इस्तेमाल भी जिम्मेदार हैं।
यूं स्वस्थ रखें दिल को...
-प्रतिदिन 3 से 5 किलोमीटर तक करें पैदल सैर
-नियमित अथवा सप्ताह में दो-तीन चलाएं साइकिल
-हृदय की सुरक्षा के लिए जंक फूड से रहें दूर
-फल-सब्जी, दाल-अंडा, पौष्टिक आहार का करें प्रयोग
-सिगरेट, शराब, मादक पदार्थों का नहीं करें सेवन
-नियमित योग-व्यायाम, वर्जिश, कसरत करें

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.