IAS talent talk: लगन और परिश्रम से मिली वैभव को कामयाबी

वैभव को आईएएस में अखिल भारत स्तर पर 25 वीं रैंक। निराश और हार मानने के बजाय योजनाबद्ध ढंग से तैयारी की। इसके बूते कामयाबी हासिल हुई।

By: raktim tiwari

Published: 25 Sep 2021, 09:19 AM IST

अजमेर. जीवन में लगन और परिश्रम से कामयाबी पाई जा सकती है। यह बात आईएएस में 25 वीं रैंक हासिल करने वाले ब्यावर के वैभव रावत ने कही। पत्रिका से बातचीत में वैभव ने कहा कि आईआईटी बनारस से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में बी.टेक करने के बाद ही वे आईएएस की तैयारी में जुट गए। प्रथम अवसर में सफल नहीं हुए। लेकिन उन्होंने निराश और हार मानने के बजाय योजनाबद्ध ढंग से तैयारी की। इसके बूते कामयाबी हासिल हुई।

माता-पिता से मिली प्रेरणा
वैभव के पिता नीलू रावत अजमेर के टी.टी.कॉलेज में रीडर हैं। माता सुनीता रावत ब्यावर के सनातन धर्म राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में शिक्षिका हैं। उन्होंने बताया कि जीवन में कुछ बनने की प्रेरणा माता-पिता से मिली।

Read More:

सांख्यिकी अधिकारी पद के आवेदन 2 तक

अजमेर. राजस्थान लोक सेवा आयोग की सांख्यिकी अधिकारी (आयोजना विभाग) भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन जारी है। अभ्यर्थी 2 अक्टूबर तक आवेदन कर सकेंगे। आयोग ने आयोजना विभाग (आर्थिक एवं सांख्यिकी) में 43 सांख्यिकी अधिकारी की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है। आवेदन 3 सितंबर से भरने जारी है। सामान्य वर्ग के लिए आवेदन शुल्क 350 रुपए होगा। ओबीसी, एमबीसी और ईब्ल्यूएस श्रेणी के आवेदकों के लिए शुल्क 250 रुपए, एससी/एसटी, नि:शक्तजन और 2.50 लाख से कम वार्षिक आय वाले आवेदकों को 150 रुपए शुल्क देना होगा।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned