scriptIf someone reduces the number of guests, then someone is busy in watch | कोई मेहमानों की संख्या घटाने तो कोई नया मुहू्र्त देखने में जुटा | Patrika News

कोई मेहमानों की संख्या घटाने तो कोई नया मुहू्र्त देखने में जुटा

जनवरी के अलावा फरवरी और मार्च में भी कई बड़े सावे : नई कोरोना गाइड लाइन से राज्य भर में एक लाख से अधिक शादियां प्रभावित, संख्या सीमित किए जाने के बाद लोग परेशान, आगे बढ़ा रहे विवाह समारोह की तारीखें

अजमेर

Published: January 06, 2022 10:58:33 pm

कोरोना गाइडलाइन में शादी समारोह में मेहमानों की संख्या सीमित करने से असर दिखना शुरू हो गया है। जिन घरों में अगले तीन माह में शादियां थीं, उन्होंने तारीख आगे बढ़ाना शुरू कर दिया है।
कोई मेहमानों की संख्या घटाने तो कोई नया मुहू्र्त देखने में जुटा
विवाह स्थल संचालकों की मानें तो शादी की तारीख को आगे बढ़ाने के लिए लोगों के फोन आ रहे हैं। राजधानी में भी आने वाले सावे में 15 हजार से अधिक शादियां होनी हैं। जनवरी के अलावा फरवरी और मार्च में कुछ बड़े सावे हैं। एक अनुमान के मुताबिक राज्य भर में एक लाख से अधिक शादियां अगले तीन माह में होंगी। संख्या सीमित किए जाने से शादी व्यवसाय से जुड़े कैटङ्क्षरग, फूल माला से लेकर डीजे व बैंडबाजों पर प्रभाव पडऩा स्वाभाविक है।
ये आएगी दिक्कत
राजधानी में ज्यादातर विवाह स्थल सामान्य दिनों की तरह बुक थे। इसी तरह कैटङ्क्षरग की भी बुङ्क्षकग की गई थी। अब संख्या 100 करने से मैरिज गार्डन से लेकर कैटङ्क्षरग की बुङ्क्षकग में दिक्कत शुरू हो गई है। विवाह स्थल संचालकों का कहना है कि भले ही संख्या सीमित कर दी गई हो, लेकिन विवाह स्थल में सुविधाएं पूरी दी जाएंगी। जबकि, सरकार की ओर से कोई सहूलियत नहीं मिल रही है।
कोई मेहमानों की संख्या घटाने तो कोई नया मुहू्र्त देखने में जुटा

जनवरी के अलावा फरवरी और मार्च में भी कई बड़े सावे : नई कोरोना गाइड लाइन से राज्य भर में एक लाख से अधिक शादियां प्रभावित, संख्या सीमित किए जाने के बाद लोग परेशान, आगे बढ़ा रहे विवाह समारोह की तारीखें
कोरोना गाइडलाइन में शादी समारोह में मेहमानों की संख्या सीमित करने से असर दिखना शुरू हो गया है। जिन घरों में अगले तीन माह में शादियां थीं, उन्होंने तारीख आगे बढ़ाना शुरू कर दिया है।
विवाह स्थल संचालकों की मानें तो शादी की तारीख को आगे बढ़ाने के लिए लोगों के फोन आ रहे हैं। राजधानी में भी आने वाले सावे में 15 हजार से अधिक शादियां होनी हैं। जनवरी के अलावा फरवरी और मार्च में कुछ बड़े सावे हैं। एक अनुमान के मुताबिक राज्य भर में एक लाख से अधिक शादियां अगले तीन माह में होंगी। संख्या सीमित किए जाने से शादी व्यवसाय से जुड़े कैटङ्क्षरग, फूल माला से लेकर डीजे व बैंडबाजों पर प्रभाव पडऩा स्वाभाविक है।
ये आएगी दिक्कत
राजधानी में ज्यादातर विवाह स्थल सामान्य दिनों की तरह बुक थे। इसी तरह कैटङ्क्षरग की भी बुङ्क्षकग की गई थी। अब संख्या 100 करने से मैरिज गार्डन से लेकर कैटङ्क्षरग की बुङ्क्षकग में दिक्कत शुरू हो गई है।
विवाह स्थल संचालकों का कहना है कि भले ही संख्या सीमित कर दी गई हो, लेकिन विवाह स्थल में सुविधाएं पूरी दी जाएंगी। जबकि, सरकार की ओर से कोई सहूलियत नहीं मिल रही है।
कारोबार पर पड़ेगा असर
सरकार के इस फैसले के करोड़ों का कारोबार प्रभावित होगा। मुख्यमंत्री से मिलकर संख्या बढ़ाने की मांग रखेंगे। अगले तीन महीनों में कई बड़े सावे हैं। उसका ध्यान सरकार को रखना चाहिए।
- रवि जिंदल, राष्ट्रीय अध्यक्ष ऑल इंडिया टैंट डेकोरेशन
अगले तीन महीन में कई बड़े सावे हैं। बुङ्क्षकग आगे बढ़ाने के फोन आना शुरू हो गए हैं। कोरोना को ध्यान में रखते हुए बुङ्क्षकग के दौरान ही एडजस्ट करने की बात कह दी थी।
- पर्वत ङ्क्षसह भाटी, महामंत्री, राजस्थान टैंट किराया व्यवसायी समिति

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

मुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...दिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आएIPL 2022 MI vs SRH Live Updates : 16 ओवर के बाद हैदराबाद 2 विकेट के नुकसान पर 164 रन पर, त्रिपाठी ने बनाया शानदार अर्धशतकहिमाचल प्रदेश: सीएम जयराम ने किया एलान, पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले की जांच करेगी CBIज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.