IGNOU:जून सत्र के एग्जाम शुरू होंगे कुछ देर में

जो विद्यार्थी केंद्रों तक नहीं पहुंचेंगे, वे दिसंबर तक होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

By: raktim tiwari

Published: 17 Sep 2020, 06:14 AM IST

अजमेर.

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय की जून 2020 सत्र की परीक्षाएं 17 सितंबर से शुरु होंगी। कोविड-19 परिस्थितियों के चलते जो विद्यार्थी केंद्रों तक नहीं पहुंचेंगे, वे दिसंबर तक होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

अध्ययन केंद्र के समन्यवक डॉ. सुनील कुमार गोयल ने बताया कि इग्नू के विभिन्न पाठ्यक्रमों के अंमित वर्ष,अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं 17 सितंबर से सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालयय में होंगी। विद्यार्थी विवि की वेबसाइट से हॉल टिकट डाउनलोड कर सकते हैं।

परिचय पत्र और हॉल टिकट परीक्षा केंद्र में लाना जरूरी होगा। बगैर मास्क के केंद्र में प्रवेश नहीं मिलेगा। पंजीकरण 30 तकइसी तरह जुलाई सत्र में विवि के कोर्स में प्रवेश के लिए पंजीकरण 30 सितंबर तक कराए जा सकेंगे। पहले यह तिथि 15 सितंबर रखी गई थी।

थर्ड ईयर की परीक्षाएं थोड़ी देर में, सिर्फ दो घंटे का पेपर

अजमेर. महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय की स्नातक तृतीय वर्ष की परीक्षाएं गुरुवार से शुरू होंगी। दो घंटे की परीक्षा में विद्यार्थियों को तीनों वर्गों में आठ प्रश्न करने होंगे। विश्वविद्यालय इसके निर्देश प्रवेश पत्र पर प्रिंट करने के अलावा वेबसाइट पर अपलोड कर चुका है।

परीक्षा नियंत्रक प्रो. सुब्रतो दत्ता ने बताया कि बीए, बीएससी, बी.कॉम, बीए, बीएससी और बी.कॉम ऑनर्स, बीएससी होम साइंस, बीएससी बायोटेक, बीएससी आईटी, बीएससी यौगिक साइंस, बीसीए (ओल्ड) और बीसीए न्यू तृतीय वर्ष की परीक्षाएं गुरुवार से प्रारंभ होंगी। विद्यार्थियों को भाग-अ में 10 में से 5 प्रश्न, भाग-ब में 5 में से 2 प्रश्न और भाग-स में कोई एक प्रश्न करना होगा।
परीक्षा की अवधि दो घंटे होगी। विश्वविद्यालय यह निर्देश प्रवेश पत्र पर प्रिंट करने के अलावा वेबसाइट पर भी अपलोड किए हैं। परीक्षा सुबह और शाम की पारी में होगी। सभी परीक्षा केंद्रों पर थर्मल स्कैनिंग से तापमान जांच, सेनेटाइजर की व्यवस्था जरूरी होगी। कॉलेज के कमरों में सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार विद्यार्थियों को बैठाया जाएगा।

संदेह के घेरे में परीक्षा केंद्र?
एसीबी ने कॉलेज की सम्बद्धता, सीट बढ़वाने और परीक्षा केंद्र बनवाने की एवज में कुलपति आर. पी. सिंह, दलाल रणजीत सिंह और निजी कॉलेज प्रतिनिधि महिपाल को ट्रेप किया है। जिन कॉलेज में लेन-देन से परीक्षा केंद्र बने हैं, वे संदेह के घेरे में हैं। सरकार, राजभवन और एसीबी को इन पर ध्यान देना जरूरी होगा।

COVID-19 virus
raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned