उसने पहले दिया शादी का झांसा, फिर अंजाम दी शर्मनाक करतूत

पुलिस से मदद गुहार लगाई लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई तो उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया।

By: raktim tiwari

Published: 10 Nov 2017, 09:01 AM IST

विधवा महिला को शादी का झांसा देकर पांच माह तक देहशोषण व गहने हड़पने का मामला सामने आया है। क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस ने पीडि़ता की रिपोर्ट पर धोखाधड़ी व दुराचार का मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले में अनुसंधान शुरू कर दिया है।
पुलिस के अनुसार पीडि़ता ने इस्तगासे से रिपोर्ट दी कि फॉयसागर रोड श्याम कॉलोनी निवासी सलीमुद्दीन ओवैसी से उसकी मुलाकात छह माह पहले हुई। मुलाकात के बाद से आरोपित उसको सब्जबाग दिखा शादी का दबाव बनाने लगा लेकिन उसने पेशकश ठुकरा दी। लेकिन ओवैसी उससे मिलता रहा।

गत 20 जून को आरोपित उसको अपनी गाड़ी में बैठाकर ले गया, जहां उसने दुराचार किया। उसके बाद शादी करने का झांसा देकर उससे दुष्कर्म करता रहा। शादी का दबाव बनाने पर आरोपित उसको धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा। आरोपित ने शादी करने से इन्कार कर दिया। उसके इन्कार के बाद उसने पुलिस से मदद गुहार लगाई लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई तो उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया।

विश्वास में खाया धोखा :
पीडि़ता ने बताया कि पति की मौत होने के बाद वह विधवा का जीवन व्यतीत कर रही थी। पीडि़ता ने आरोप लगाया कि ओवेसी ने उसकी मजबूरी का फायदा उठाते हुए उसके गहने बेच दिए। पुलिस में शिकायत की बात करने पर वह ब्लैक मेल करने लग गया।

लगातार बढ़ रहे ऐसे मामले
विधवा और तलाकशुदा महिलाओं को धोखा देने और देहशोषण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ज्यादातर मामलों में नौजवान, अधेड़ और यदा-कदा 60 या इससे ज्यादा उम्र के लोग शामिल होते हैं। परिवार और सामाजिक प्रतिष्ठा के भय से कई महिलाएं ऐसे मामलों में शिकायत नहीं करती। इसका फायदा उठाकर गंदी मानसिकता के लोग ब्लैकमेल करते रहते हैं। जिन मामलों में शिकायत होती है, उसमें पुलिस जांच के नाम पर पीडि़ताओं को चक्कर लगवाती है।

महिलाएं लें कानून का सहारा
देहशोषण के दंश को झेलने के बजाय महिलाओं को कानून का सहारा लेना चाहिए। सभी प्रदेशों और छोटे-बड़े शहरों में लीगल क्लीनिक खुल चुके हैं। इनके अलावा पुलिस थानों में महिला हेल्प डेस्क, परामर्श केंद्र खोले गए हैं। अदालतों ने भी विधिक साक्षरता शिविर के आयोजन के अलावा विशेष महिला परामर्शदाता नियुक्त किए हैं। महिलाएं अपने परिवार में किसी वरिष्ठ अथवा महिला को इसकी जानकारी देकर आरोपित की करतूत को उजागर कर सकती हैं।

 

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned