पुष्कर में निर्दलीय पार्षद ने बचाई भाजपा की लाज

पुष्कर पालिकाध्यक्ष चुनाव : भाजपा के जीते थे 14 पार्षद, एक पार्षद ने बागी होकर कांग्रेस के समर्थन से अध्यक्ष का चुनाव लड़ा,दूसरे ने की क्रॉस वोटिंग

By: suresh bharti

Published: 27 Nov 2019, 06:25 AM IST

अजमेर. नगर पालिका पुष्कर में भाजपा के कमल पाठक दूसरी बार अध्यक्ष चुने गए। पच्चीस सदस्यीय बोर्ड में पाठक को 13 व भाजपा के बागी व कांग्रेस समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी रविकान्त पाराशर को 12 वोट मिले। चुनाव में भाजपा के 14 पार्षद जीते थे, लेकिन भाजपा के रविकान्त पाराशर ने बगावत कर कांग्रेस के समर्थन से अध्यक्ष का चुनाव लड़ा। मंगलवार को मतदान के दौरान भाजपा की एक पार्षद ने क्रॉस वोटिंग कर दी, लेकिन निर्दलीय कैलाश श्रेष्ठी ने पाठक के पक्ष में मतदान किया। इसके चलते भाजपा प्रत्याशी पाठक एक वोट से चुनाव जीत गए।

सर्वप्रथम कांगे्रस के नौ पार्षदों ने सामूहिक रूप से मतदान किया। दोपहर बाद भाजपा प्रत्याशी कमल पाठक पार्टी के बारह भाजपा पार्षदों व एक निर्दलीय कै लाश श्रेष्ठी के साथ वोट डालने पहुंचे। निर्वाचन अधिकारी देविका तोमर ने पाठक को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई।

कांग्रेस की बढ़ी ताकत

नगर पालिका पुष्कर के पिछले चुनावों में कांग्रेस का मात्र एक पार्षद जीत पाया था। इस बार कांग्रेस के 9 पार्षद चुनाव जीतकर आए हैं। अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस ने जोड़तोड़ कर 12 वोट जुटाए, लेकिन कामयाबी नहीं मिल पाई।

निर्दलीय व भाजपा पार्षद ने अकेले आकर किया मतदान
निर्दलीय प्रत्याशी जयनारायण दग्दी एवं भाजपा की महिला पार्षद उमादेवी ने अलग अलग समय आकर वोट डाला। कांग्रेस नेता इंसाफ अली व निर्दलीय प्रत्याशी रविकांत पाराशर ने मतदान स्थल तक दग्दी को प्रोटोकॉल दिया, लेकिन पत्रकारों से बात करते हुए पार्षद दग्दी ने कहा कि वे किसी के साथ नहीं आए है। पुष्कर राज को वोट दूंगा।

भाजपा के तेरह पार्षदों के मतदान करने के काफी समय बाद भाजपा की पार्षद उमा देवी पाराशर अपने भाई ओमप्रकाश के साथ वोट डालने आईं। इससे आशंका है कि उमा देवी क्रॉस वोटिंग कर सकती है। सवाल यह है कि वह अन्य भाजपा पार्षदों के साथ मतदान करने क्यों नहीं आई। विधायक सुरेश रावत ने स्वीकार किया कि भाजपा के एक पार्षद ने क्रॉस वोटिंग की है। इसकी जांच कराकर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

वोट में दस का नोट
मतगणना के दौरान एक निर्दलीय प्रत्याशी के वोट के साथ दस रुपए का नोट निकला। इस बारे में निर्वाचन अधिकारी देविका तोमर ने बताया कि बैलेट में नोट निकला था, लेकिन उस पर कोई संकेत या संदेश नहीं था।


suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned