भारत-पाक जंग में अल्लानूर ने दिखाए थे जाबांजी के जौहर

भारत-पाक जंग में अल्लानूर ने दिखाए थे जाबांजी के जौहर

Chandra Prakash Joshi | Updated: 15 Aug 2019, 10:13:22 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

वर्ष १९७१ की लड़ाई में हुए थे शहीद

अजमेर. फकीराखेड़ा के अल्लानूर खान ने १९७१ की जंग में कई पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था लेकिन असलहा खत्म होने पर जैसे ही पीछे मुड़े कि घात लगाए किसी पाक सैनिक ने उन्हें गोली मार दी। उनका शव भी गांव नहीं आ सका औैर केवल सूचना आई। बाद में शव का अंतिम संस्कार सैन्य सम्मान से किया गया। अल्ला नूर के भतीजे हाकम ने बताया कि अल्लानूर की पत्नी रजिया बेगम को बीकानेर में २५ बीघा भूमि सीमा के पास दी गई। गैस एजेंसी या पेट्रोल पंप की इच्छा थी लेकिन बाद में इसे संभालने वाले नहीं होने के कारण एेसा नहीं हो सका। गांव में उनकी याद में प्रतिवर्ष कार्यक्रम होता है। बिठूर निवासी अल्लानूर की शादी रजिया बेगम के साथ हुई। शादी को महज एक सप्ताह भी नहीं हुआ कि उन्हें फौज से बुलावा आ गया कि भारत-पाक में युद्ध छिड़ गया। अल्लानूर रवाना हो गए। अभी रजिया के हाथों की मेहंदी का रंग भी फीका नहीं पड़ा कि फौज से अल्लानूर के शहीद होने की सूचना आ गई। रजिया के कोई संतान भी नहीं थी। इसके बाद भी वह पीहर नहीं लौटी ओर फकीराखेड़ा में भी शहीद की याद में जीवन व्यतीत किया। शहीद की पत्नी रजिया बेगम का भी निधन हुए करीब तीन वर्ष हो चुके हैं। घर के प्रांगण में उनकी मजार पर आज भी लोग अकीदत के फूल चढ़ाते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned