INNOVATION: जिन हाथों ने किया था कभी क्राइम, अब सीख रहे हेयर कटिंग

इसके तहत बंदियों को हेयर कटिंग सिखाई गई है। प्रशिक्षित बंदियों को राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जाएगा।

By: raktim tiwari

Published: 07 Mar 2021, 09:27 AM IST

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

सेंट्रल में कैदियों को स्वरोजगार और आजीविका से जोडऩे के तहत हेयर कटिंग सिखाई जा रही है। जेल अधीक्षक प्रीति चौधरी ने बताया कि पिछले साल 2 अक्टूबर को राज्य सरकार और जेल विभाग से बंदियों को आजीविका के लिए प्रशिक्षित करने के आदेश मिले थे।

ताकि वे रिहाई के बाद स्वरोजगार चला सकें। इसके तहत बंदियों को हेयर कटिंग सिखाई गई है। प्रशिक्षित बंदियों को राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम की तरफ से सर्टिफिकेट दिया जाएगा।

ताकि सब सीखें हुनर
चौधरी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट और जेल महानिदेशक ने किसी जाति विशेष के बजाय सभी वर्गों के बंदियों को प्रशिक्षण देने को कहा है। इसके तहत बंदियों को हेयर कटिंग, सफाई, बागवानी और अन्य प्रशिक्षण दिए जा रहे हैं। इसका मकसद किसी जाति विशेष के बजाय आजीविका और सामाजिक उपादेयता के लिए सामूहिक जिम्मेदारी विकसित करना है।

जेल में तैयार हो रहे उत्पाद
सेंटल जेल में बंदी कई उत्पाद तैयार कर रहे हैं। इसके तहत दरी निर्माण, मसाले और अन्य उपयोगी सामान शामिल हैं। यह काफी गुणवत्तापूर्ण हैं। मालूम हो कि ब्रिटिशकाल में भी कैदियों को मुड्डे, दरी बनाने, लकड़ी का सामान तैयार करने का प्रशिक्षण दिया जाता था। अजमेर की सेंट्रल जेल राज्य की सबसे सुरक्षित मानी जाती रही है। यहां कई खूंखार आतंकी और टाडा बंदी भी कैद रहे हैं।

जेल प्रहरी लाई सेनेटरी पैड में जर्दे की पुडिय़ा

अजमेर. सेंट्रलजेल में बंद कैदियों तक नशा मोबाइल सहित अन्य सामान पहुंचने की घटनाएं लगातार सामने आ रहीं है। जेल प्रबंधन ने सेनेटरी पैड में जर्दे की पुडिय़ा छुपाकर लाने वाली महिला प्रहरी को निलंबित कर दिया। उसके खिलाफ विभागीय जांच जारी है।

महिला प्रहरी बीना मीणा की ड्यूटी पर तलाशी ली गई। उसके पास दो सेनेटरी पैड मिलेम। महिला कांस्टेबल को शक हुआ तो बीना से पूछा। उसने पीरियड होने के कारण दो सेनेटरी पैड के इस्तेमाल की बात कही। जवाब देते वक्त बीना के हाव-भाव देखकर महिला कांन्स्टेबल का शक गहरा गया। जब सेनेटरी पैड की जांच की गई तो उसमें तंबाकू की दो पुडिय़ा मिलीं। इस पर मीणा को निलंबित किया गया है। मामले की जांच करवाई जा रही है। निलंबन के दौरान उसका मुख्यालय डूंगरपुर रखा गया है।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned