स्मार्ट सिटी और पीएमसी के अभियंताओं में‘घमासान’

-पीएमसी के अभियंताओं को हटाने के निर्देश

By: bhupendra singh

Published: 26 Jun 2020, 08:05 AM IST

अजमेर.अजमेर स्मार्ट सिटी smart city लिमिटेड के प्रोजेक्ट पहले ही कछुआ चाल से चल रहे हैं। केन्द्र सरकार फंडिग रोकने के लिए चेतावनी भी दे चुकी है। लेकिन स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्टों को आगे बढ़ाने के बजाय स्मार्ट सिटी लिमिटेड और प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंसी कम्पनी (पीएमसी) एजिस इंडिया के बीच घमासान चल रहा है। अजमेर स्मार्ट सिटी के मुख्य अभियंता अनिल विजयवर्गीय ने पीएमसी PMC engineers के तीन सिविल इंजीनियर और एक सुपरवाइजर (अनिल कुमार यादव, प्रेम बिहारी गोस्वामी, देव प्रताप सिंह, रवि प्रकाश शर्मा) को उनके प्रदर्शन और क्षमता के आधार पर उपयुक्त नहीं पाया। चीफ इंजीनियर ने पीएमसी इजिस इंडिया के टीम लीडर को इन्हें 15 जून तक हटाने remove के निर्देश Instructions दिए थे और साथ ही यह भी निर्देश दिए थे कि पीएमसी में कोई भी नियुक्ति/ तैनाती स्मार्ट सिटी के अनुमति के बिना नहीं की जाए। चीफ इंजीनियर ने यह भी कहा कि पीएमसी शेष रहे इंजीनियरों को आवश्यकता अनुसार कार्य का विभाजन किया जाए, जिससेपीएमसी पर आनावश्यक किए जा रहे खर्चों पर भी रोक लग सके।

टीम लीडर ने अनुबंधों का पाठ पढ़ाया
स्मार्ट सिटी के चीफ इंजीनियर के पत्र पर पीएमसी के टीम लीडर निर्मल कुमार धीर ने कहा कि उन्हें इस सम्बन्ध में कोई नोटिस नहीं मिला है। इन कर्मचारियों ने प्रोजेक्टों की गति देने में मूल्यवान कार्य किया है। इसलिए हम आपके आदेश को निरस्त करते हैं। आपका प्रस्ताव मानना संभव नहीं है,इससे मौजूदा इंजीनियरों पर भार पड़ेगा उनकी परफॉमेंस प्रभावित होगी।

इनका कहना है
पीएमसी के अभियंताओं का डिप्लॉयमेंट प्लान मांगा है। अगले सप्ताह इसे शॉटआउट किया जाएगा। नॉन परफार्मर को हटाया जाएगा।

अनिल विजयवर्गीय,मुख्य अभियंता, स्मार्ट सिटी अजमेर

read more: स्मार्ट सिटी की टेंडर अप्रूवल कमेटी ने फर्म पर दिखाई थी मेहरबानी

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned