अन्तरराज्यीय ठग गिरोह का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तार

कामयाबी : वैशालीनगर गौरव पथ पर 13 दिसम्बर को महिला को बनाया था ठगी का शिकार, क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस ने किया दिल्ली की गैंग का पर्दाफाश

By: manish Singh

Published: 18 Dec 2020, 05:40 PM IST

अजमेर.
क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस ने अन्तरराज्यीय ठग गिरोह को पकडऩे में कामयाबी हासिल की है। गिरोह ने पांच दिन पहले वैशालीनगर गौरव पथ पर राह चलती महिला को रोक गहने उतरवा लिए थे। सीसीटीवी फुटेज से पुलिस ने तलाश करते हुए वेस्ट दिल्ली के कुख्यात ठग गिरोह को दबोचा। पुलिस ने उनसे ठगी का माल भी बरामद किया है। आरोपियों के खिलाफ दिल्ली, अहमदाबाद में एक दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज है।

वृत्ताधिकारी(उत्तर) डा. प्रियंका रघुवंशी ने बताया कि 13 दिसम्बर सुबह वैशालीनगर शांतिपुरा निवासी पीरू खटीक की रिपोर्ट सक्रिय हुई क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस की टीम ने वेस्ट दिल्ली रघुवीर नगर जे.जे. कॉलोनी टेगोर गार्डन निवासी अशोक सोलंकी, प्रमोद माथुर व रितिक उर्फ अमित सोलंकी को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने ठगी की वारदात कबूल की है। पुलिस ने उनसे पीरू खटीक से ठगा सोने का मंगलसूत्र, 2 अंगुठियां भी बरामद कर ली। डा. रघुवंशी ने बताया कि गैंग दिल्ली नम्बर की कार में वारदात अंजाम देने आए थे। गिरोह घटनास्थल से कुछ कदम के फांसले पर कार से उतर गए। कार से उतरने की वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। जिसे क्रिश्चियन गंज थाने की स्पेशल टीम ने कार्रवाई कर आरोपियों को दबोचा।

एक दर्जन से ज्यादा प्रकरण
सीओ रघुवंशी ने बताया कि गिरोह के लीडर अशोक सोलंकी(बाबरी) के खिलाफ वेस्ट दिल्ली व अहमदाबाद में एक दर्जन से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज है। जबकि उसके गुर्गे प्रमोद माथुर के खिलाफ वेस्ट दिल्ली में पांच आपराधिक प्रकरण दर्ज है।

तरीका वारदात
पुलिस पड़ताल में सामाने आया कि ठग गिरोह पूरे देश में महिलाओं को ठगी का शिकार बनाता है। आरोपी पहचान छीपा कर रखते है। वारदात से पहले रैकी कर किसी ऐसी महिला को चिह्नित करते है जो अकेली हो व जिसने गले व हाथों में गहने पहन रखे हो। गिरोह का एक सदस्य महिला से अनजान बनकर रास्ता पूछने के बहाने से बात शुरू करता है तभी दूसरा साथी अनजान बनकर उस लकड़े की मदद के बहाने महिला को लालच देकर गहने उतरवा रूमाल में रखवाता है। बातों में फंसाकर आरोपी दूसरा रूमाल महिला को थमाकर कार में बैठकर घटनास्थल से निकल जाते हैं।

READ MORE-ठगों ने राह चलती महिला के उतरवाए आभूषण

टीम में यह थे शामिल
ठग गिरोह का पर्दाफाश करने में हैडकांस्टेबल भगवान सिंह व किशोर कुमार का विशेष योगदान रहा। टीम में सहायक उपनिरीक्षक मोईनुद्दीन, हैडकांस्टेबल हरिराम, सिपाही सुमेर, सुरेन्द्र, मोईनुद्दीन व अभय कमांड सेंटर सिपाही संजय कुमार, जितेश शामिल है।

manish Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned