अजमेर.
जिले में सुहागिनों ने गुरुवार को करवा चौथ ( karwa chauth vrat ) का पारम्परिक पर्व मनाया। पति की दीर्घायु के लिए महिलाओं ने दिनभर निराहार रहकर व्रत-उपवास रखा। शाम को कथा श्रवण कर पूजन किया। छलनी में चांद का दीदार किया। अघ्र्य अर्पित कर जल ग्रहण किया।करवा चौथ व्रत के लिए महिलाओं और नवविवाहिताओं में खास उत्साह दिखा। हाथ-पैरों में मेहंदी रचानेे और सजने-संवरने के बाद सुहागिने दिनभर निराहार रही। सगाई के बाद मंगेतर की हिफाजत के लिए भी कई युवतियों ने उफवास रखा। शाम को शहर की विभिन्न कॉलोनियों, गलियों-मोहल्लों में महिलाओं ने करवा चौथ की कथा Karva Chauth Katha सुनकर सामूहिक पूजन किया।

Ajmer News

रात को ज्यों ही चांद दिखा गेहूं, चावल और अन्य सामग्री से अघ्र्य अर्पित किया। दीप प्रज्वलित कर छलनी में चांद देखने के बाद मिट्टी अथवा शक्कर से निर्मित करवे से पानी पिया। अजमेर शहर समेत ब्यावर, किशनगढ़, पुष्कर, नसीराबाद, पीसांगन, सरवाड़, केकड़ी आदि कस्बों में भी करवा चौथ को लेकर सुहागिनों में खासा उत्साह देखा गया।


कविता पाठ : Karva Chauth Katha
सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में करवा चौथ पर्व मनाया गया। प्राचार्य डॉ. मुन्नालाल अग्रवाल और स्टाफ क्लब सचिव डॉ. शारदा वर्मा ने स्वागत किया। कविता पाठ के आयोजन में डॉ. मोनिका मिश्रा, डॉ. अनिता खुराना, डॉ. फरखन्दा, डॉ. लता अग्रवाल, डॉ. जया अग्रवाल, नृत्य में डॉ. प्रकाश सिरवी, डॉ. सुनिता कमल, डॉ. रीना व्यास ने भाग लिया। डॉ. प्रीति माथुर, डॉ. प्रेरणा जैन, डॉ. गायत्री, डॉ. सुनिता ने गीत पेश किए।


करवा चौथ के उद्यापन-
कई महिलाओं और विवाहिताओं ने करवा चौथ का उद्यापन भी किया। इसके तहत घरों-मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना और सुहाग की सामग्री वितरित की गई। उद्यापन के तहत सुहागिनों को भोजन, मिठाई, शक्कर, गुड़, कपड़े-उपहार बांटे गए। मालूम हो कि महिलाएं करवा चौथ, गणगौर और अन्य पर्वों पर उद्यापन करती हैं।

Beawar News
सजने-संवरने की होड़-
करवा चौथ पर्व पर महिलाओं, नव विवाहिताओं में सजने-संवरने की होड़ रही। महिलाओं ने पारम्परिक राजस्थानी लहंगा-चुनरी, बेस, आधुनिक साडिय़ां पहनी। सोने-चांदी और डायमंड के आभूषण धारण किए। कई महिलाओं ने ब्यूटी पार्लर जाकर मेकअप कराया। मदार गेट, नया बाजार और पुरानी मंडी-चूड़ी बाजार में हाथों में मेहंदी लगाने वाले भी व्यस्त रहे।

व्रत व उपवास- Karva Chauth Vrat
उपखंड मुख्यालय नसीराबाद सहित ग्रामीण क्षेत्र में गुरुवार को सुहागिनों ने करवा चौथ पर व्रत व उपवास रखे। निरजल व निराहार रहकर अखण्ड सौभाग्य की कामना की। समूह में चौथ माता की कथा श्रवण किया। रात्रि में चंद्रोदय होने पर चंद्रमा को अघ्र्य देकर व्रत खोला गया। बाजार में मिट्टी व चीनी से तैयार करवों की बिक्री जोरों पर रही। इससे पूर्व सुहागिनों ने बुधवार देर रात तक चूडिय़ों एवं अन्य सुहाग के सामान की खरीदारी की।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned