KURKEE: मासूम को मिली मां-बाप के ऋण नहीं चुकाने की सजा, आठ घंटे कैद रही कुर्क मकान में

Preeti Bhatt

Updated: 15 Feb 2020, 03:23:11 PM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर/ रूपनगढ़. समय पर ऋण ( loan)नहीं चुकाने की सजा एक निजी फाइनेंस कम्पनी(Private finance company) ने दस महीने की मासूम को दे डाली। फाइनेंस कम्पनी के अधिकारी गुरुवार दोपहर देनदार के घर पहुंचे और तत्काल मकान को कुर्क कर लिया। अधिकारियों ने घर में रहने वालों का खाने का सामान व पहनने के लिए कपड़े भी नहीं निकालने दिए। इस आपाधापी में उनकी दस महीने की बच्ची मकान में बंद हो गई। करीब आठ घंटे बाद कलक्टर(collector) की दखल पर भूखी-प्यासी बच्ची को बाहर निकाला गया।

Read More: MURDER: पहले जमकर पी शराब, फिर घोंप दिया सीने में चाकू

मामला रूपनगढ़ के निकट कांस्या की ढाणी का है। ढाणी निवासी ओमप्रकाश कुमावत पर एसके पिन कोर्ड फाइनेन्स कम्पनी की किशनगढ़ शाखा का ऋण बकाया है। कम्पनी के अधिकारी गुरुवार सुबह करीब 11.30 बजे मय पुलिस के उसके मकान पर पहुंचे। कुमावत का कहना है कि कम्पनी अधिकारियों ने उन्हें धमकाते हुए घर से निकाला और घर सील कर दिया। परिजन उनसे विनती करते रहे लेकिन किसी ने नहीं सुनी। पीडि़त परिवार का कहना है कि बैंक अधिकारियों की प्रताडऩा, धमकाने व धक्के देते वक्त ओमप्रकाश की पोती दस महीने की कार्तिका अंदर ही रह गई। उन्होंने बताया कि वे अपने मकान की चिंता में बच्ची को भी भूल गए। होश आया तब तक फाइनेंस कम्पनी के लोग वहां से चले गए थे।

Read More: गुस्साई महिलाओं ने इसलिए जलाया कलक्ट्रेट पर चूल्हा ,देखें वीडियो

बच्ची के लिए लगाई अजमेर तक की दौड़

बच्ची मकान में ही बंद होने की जानकारी मिलने पर परिजन उपखंड अधिकारी अंजू शर्मा के पास पहुंचे। शर्मा ने उन्हें थानाधिकारी सुनील बेड़ा के पास भेजा लेकिन वहां सुनवाई नहीं होने पर वे अजमेर आ गए और जिला कलक्टर (District Collector) विश्वमोहन शर्मा के समक्ष गुहार लगाई। कलक्टर की दखल पर उपखण्ड अधिकारी शर्मा व थानाधिकारी बेड़ा मौके पर पहुंचे और मकान का ताला तोडकऱ मासूम को बाहर निकाला। इस कार्रवाई में करीब 8 घंटे बीत गए। बेसुध हालात में मिली मासूम को किशनगढ़ के राजकीय चिकित्सालय लाया गया। जहां उपचार के बाद उसे छुट्टी दे दी गई।

Read More: आखिर निकल गया इंदिरा गांधी की प्रतिमा के अनावरण का मुहूर्त ,17 को आएंगे पायलट

कम्पनी के खिलाफ दर्ज कराया मामला

उक्त प्रकरण में ओमप्रकाश कुमावत ने गुरुवार रात को ही रूपनगढ़ थाने में मामला दर्ज कराया। इसमें बताया कि उसने मकान का पट्टा गिरवी रखकर किशनगढ़ स्थित एसके पिन कोर्ड फाइनेंस कम्पनी से पुत्र के नाम होम लोन लिया था। कम्पनी ने न्यायालय के आदेशों का पालन नहीं करते हुए मकान की कुर्की की कार्रवाई कर मकान व कमरों को सील करने की कार्रवाई की है। रिपोर्ट में यह भी लिखा कि आरोपियों ने बुजुर्ग माता-पिता व परिजन को प्रताडि़त किया तथा धक्के दिए। दस माह की पौत्री को भी मकान में बंद कर चले गए। पुलिस(police) ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Read More: Happy Valentine's Day : वेलेंटाइन डे पर इठलाए रंग-बिरंगे फूल...

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned