इस बात पर फूट-फूट कर रो पड़ी महिला, शिविर में बैठा हर कोई उसकी कहानी सुनकर हैरान हो गया

निकटवर्ती गनाहेड़ा ग्राम पंचायत के अटल सेवा केन्द्र में आयोजित न्याय आपके द्वार शिविर में एक महिला जमीनी विवाद की कहानी सुनाते रो पड़ी।

By: सोनम

Published: 07 Jun 2018, 02:00 PM IST


यह भी पढ़ें...विरासत को युवाओं का सहारा, चकौचौंध से किनारा

 

अजमेर. वेस्टर्न कल्चर के शोर शराबे से दूर शहर के बच्चे और युवा बच्चे शास्त्रीय संगीत की विद्या हासिल कर रहे है। भविष्य में इससे की करियर के रूप में लेना चाहते है। इनमें किसी की इच्छा शास्त्रीय गायक बनने की है तो कोई गजल गाना चाहता है। सभी लगातार रियाज करके सुरों पर पकड़ बढ़ा रहे है। वहीं बुजुर्ग भी संगीत संगीत सीखने में पीछे नहीं है।
गंधर्व महाविद्यालय के शिक्षक आनंद वैद्य विद्यार्थियों को पहले खमाज, भीमबतासी, काफी राग सिखाई जाती है। तानपुरे पर रियाज कराया जाता है। संगीत विशारद वैशाली वैद्य के अनुसार , काफी राग सिखाई जाती है। तानपुरे पर रियाज कराया जाता है। संगीत विशारद वैशाली वैद्य के अनुसार

Prev Page 2 of 2 Next
सोनम Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned