वकीलों का प्रदर्शन : सडक़ मार्ग जाम करने से वाहनों की लगी कतारें, दो घंटे बाद हुई सुलह, रामगंज थानाप्रभारी को हटाया

रामगंज सीआई को लाइन हाजिर करने के बाद शांत हुए वकील, दो घंटे बाद सामान्य हुआ यातायात,अजमेर के अधिवक्ताओं ने सीआई समेत पुलिसकर्मियों पर लगाया अभद्रता का आरोप

By: suresh bharti

Published: 19 Mar 2021, 12:28 AM IST

ajmer अजमेर. रामगंज थाना पुलिस ने बुधवार रात दो वकीलों के खिलाफ एमवी एक्ट की कार्रवाई कर दी। इससे गुस्साए वकीलों ने गुरुवार को जयपुर सडक़ मार्ग जाम कर आक्रोश जताया। वकीलों ने पुलिस पर मारपीट व अभद्रता का आरोप लगाते हुए दोपहर 12 बजे सेशन कोर्ट के बाहर सडक़ मार्ग बाधित कर दिया। वकीलों ने बीच सडक़ टायर जलाए। पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। राजस्व मण्डल के वकीलों ने भी राजस्व मंडल के बाहर प्रदर्शन कर रोष प्रकट किया। मामला तूल पकड़ा तो पुलिस अधीक्षक ने रामगंज थानाधिकारी को लाइन हाजिर कर दिया। इसके बाद जाम हटाया गया।

प्रदर्शन की यह रही वजह

पुलिस के अनुसार रामगंज थानाप्रभारी सत्येन्द्र नेगी ने बुधवार रात डेढ़ बजे गश्त के दौरान वकील हितेश व मुकेश को रोककर उनके खिलाफ एमवी एक्ट की धारा 185 (शराब पीकर वाहन चलाने) के आरोप में चालान की कार्रवाई कर दी। उधर, वकीलों का आरोप है कि पुलिस ने हितेश व मुकेश के साथ मारपीट की।

गुरुवार को जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय त्रिपाठी एवं सचिव समीर काले के नेतृत्व में वकीलों ने सैशन कोर्ट के सामने प्रदर्शन किया। सूचना पर पुलिस उपअधीक्षक डॉ. प्रियंका रघुवंशी और मुकेश सोनी मौके पर पहुंचे। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद वकीलों ने सडक़ मार्ग खोल दिया।

वाहनों की लगी कतार, एंबुलेंस भी फंसी

जयपुर रोड पर दो घंटे के जाम के दौरान लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। सेशन कोर्ट, बस स्टैंड, अंबेडकर सर्किल व जयपुर रोड के दोनों और रोडवेज व निजी यात्री बसों,कार, बाइक व स्कूटी सहित अन्य वाहनों की कतार लग गई। रीक्षा देने जा रहे परीक्षार्थियों को भी परेशानी हुईं। सडक़ मार्ग बाधित करने से एक एंबुलेंस भी फंस गई, जिसे बड़ी मुश्किल से निकाला जा सका।

प्रदर्शन के चलते अंबेडकर सर्किल से रोडवेज की बसों को टोडरमल लेन से निकाला गया। जयपुर से आने वाली बसों को बैंक कॉलोनी पुलिस लाइन चौराहे से होकर बस स्टैंड के लिए डायवर्ट किया गया। इससे यहां सामान्य यातायात बाधित हुआ। वहीं बाहर से आने वाली बसें दादाबाड़ी मार्ग पर फंस गई।

मीडियाकर्मी से भी उलझे

प्रदर्शन के दौरान कुछ वकील कुछ मीडियाकर्मी से भी उलझ गए। इसका खबरनवीसों ने विरोध किया। इस संबंध में उन्होंने पुलिस अधीक्षक व जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर भी कार्रवाई की मांग की है। पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच पुलिस उपअधीक्षक प्रियंका रघुवंशी को सौंपी है।

बार चुनाव का दिखा असर

जानकारों के मानें तो बार एसोसिएशन के चुनाव शुक्रवार को हैं। इसके चलते उम्मीदवार भी प्रदर्शन में आगे खड़े नजर आए। उन्होंने कहा कि पुलिस को अधिवक्ताओ के साथ बल प्रयोग व दुव्र्यवहार करने का अधिकार प्राप्त नहीं है। प्रदर्शन के बाद वकीलों ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर घटना की उच्च स्तरीय जांच करने की मांग की। इनमें भी कई उम्मीदवार नजर आए।

पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

जिला पुलिस अधीक्षक जगदीशचन्द्र शर्मा के अनुसार प्रकरण में जांच की जा रही है। तब तक रामगंज थानाप्रभारी को थाने से हटाया गया है। जांच में स्पष्ट होने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पत्रकार, राहगीर व आमजन के साथ बदसलूकी के संबंध में सीओ नॉर्थ और सिविल लाइन्स थाना पुलिस पड़ताल में जुटी है।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned