महाठग ने हाई सिक्योरिटी जेल में खोली मोबाइल शॉप!

महाठग ने हाई सिक्योरिटी जेल में खोली मोबाइल शॉप!

Manish Singh | Publish: May, 07 2019 02:21:41 PM (IST) | Updated: May, 07 2019 02:21:42 PM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

हार्डकोर अपराधी के सोशल मीडिया पर भी सक्रिय, हाई सिक्योरिटी जेल में बंदी की बैरक में मोबाइल और सिमकार्ड मिलने का सिलसिला बदस्तूर जारी है।

हार्डकोर बंदी से फिर मिला मोबाइल-सिमकार्ड, हाई सिक्योरिटी जेल की सुरक्षा में सेंध
अजमेर.
प्रदेश की एक मात्र हाई सिक्योरिटी जेल में बंदी की बैरक में मोबाइल और सिमकार्ड मिलने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। जेल प्रशासन ने हार्डकोर बंदी के खिलाफ सिविल लाइन्स थाने में कारागार में अनुचित साधन इस्तेमाल का मुकदमा दर्ज करवाया है। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है।
थानाप्रभारी नरेन्द्र कुमार ने बताया कि घूघरा स्थित हाई सिक्योरिटी जेल के मुख्य प्रहरी शंकरलाल ने सोमवार को रिपोर्ट दी कि 5 मई रात्री 11 बजे जेल में हार्डकोर बंदियों की बैरक की तलाशी में वार्ड 3 की कोठरी संख्या 5 में हार्डकोर बंदी पाली रजतनगर रामदेव रोड निवासी सुरेश उर्फ भैरिया पुत्र भंवरलाल घांची के सामान की तलाशी ली गई। तलाशी में दो मोबाइल फोन और सिमकार्ड बरामद किए। मुख्य प्रहरी शंकरलाल की शिकायत पर सुरेश उर्फ भैरिया के खिलाफ राजस्थान अधिनियम 2015 में मुकदमा दर्ज कर लिया। प्रकरण में अनुसंधान सहायक उप निरीक्षक हरभजन सिंह को सौंपा गया है।

दूसरी बार मिला मोबाइल
कुख्यात महाठग सुरेश उर्फ भैरिया से हाई सिक्योरिटी जेल में मोबाइल फोन व सिमकार्ड बरामदगी का यह पहला मामला नहीं है। इससे पूर्व भी उससे जेल में बैरक की तलाशी में मोबाइल फोन व सिमकार्ड बरामद किया जा चुकी है। सुरेश प्रदेशभर में राजनेता, पुलिस अधिकारी और प्रशासनिक अधिकारी समेत व्यापारियों को लाखों रुपए की चपत लगा चुका है।

सुरक्षा में सेंध
हाईसिक्योरिटी जेल में लगातार मोबाइल फोन और सिमकार्ड मिलने से सुरक्षा पर सवालिया निशान लग गया है। हालांकि हाई सिक्योरिटी जेल में जेल अधीक्षक नरेन्द्र चौधरी की तैनाती के बाद से जेल में तलाशी अभियान नियमित किया जा रहा है। जेल में बंदियों के पास मोबाइल पहुंचते ही जेल प्रशासन को भनक लग जाती है। जेल प्रशासन भी चार दीवारी व जेल की सलाखों के भीतर मोबाइल पहुंचने की व्यवस्था के तिलिस्म को भेद नहीं सका है।

एक सादा-एक स्मार्ट फोन
पुलिस की प्रारम्भिक पड़ताल में सामने आया कि भैरिया से बरामद मोबाइल में एक स्मार्ट फोन और एक जीएसएम का फोन है। स्मार्ट फोन की मौजूदगी से हार्डकोर अपराधी के सोशल मीडिया पर भी सक्रिय होने की संभावना है। पुलिस बरामद मोबाइल व सिमकार्ड की सीडीआर खंगालने में जुटी है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned