एसीबी की टीम को गुमराह करने का प्रयास नाकाम,मंजल पटेल 15 लाख रुपए समेत गिरफ्तार

अलवर ईएसआई मेडिकल कॉलेज भर्ती घोटाला मामला : जयपुर से अजमेर की तरफ आ रही गुजरात नम्बर की कार को रोका,पूछताछ में एसीबी की टीम को गुमराह करने का किया प्रयास

By: suresh bharti

Published: 19 Jun 2021, 12:37 AM IST

Ajmer अजमेर. अलवर ईएसआई मेडिकल कॉलेज भर्ती घोटाले में किशनगढ़ में पकड़े गए मंजल पटेल ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम को गुमराह करने का प्रयास किया। उसने अपना नाम मंजल की बजाए मिनेश पटेल बताया। हालांकि प्रारंभिक पड़ताल के बाद उसका वास्तविक नाम सामने आ गया। एसीबी ने उसकी कार से साढ़े 15 लाख रुपए बरामद किए थे। एसीबी की टीम उसको देर रात अलवर लेकर रवाना हो गई।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एसीबी) सतनाम सिंह ने बताया कि पुलिस अधीक्षक समीर सिंह के आदेश पर जयपुर एसीबी की अलवर में की गई कार्रवाई में जयपुर से अजमेर की तरफ आ रही गुजरात नम्बर की कार को किशनगढ़ में गांधीनगर थाना पुलिस की मदद से रोका गया। कार के किशनगढ़ पहुंचने पर उसे से हरमाड़ा चौराहे पर जैन भोजनालय पर रोककर तलाशी ली गई। कार की डिक्की में रखे कपड़ों के बैग में एक थैली में 15 लाख रुपए व लैबटॉप बैग में 50 हजार रुपए की नकदी बरामद की गई।

पहले बताया नाम मिनेश पटेल

कार सवार ने पहले अपना नाम मिनेश पटेल बताया, लेकिन सख्ती से पड़ताल और दस्तावेज जांचने के बाद उसकी पहचान गुजरात के गांधीनगर में सरगासन निवासी मंजल पटेल के रूप में की गई।
एसीबी ने मंजल पटेल व चालक नरेन्द्र सिंह को हिरासत में ले लिया। कार्रवाई में एएसपी सिंह के साथ उप अधीक्षक अनूप सिंह, हैड कांस्टेबल रामचन्द्र, युवराज, सिपाही शिवसिंह, त्रिलोक सिंह व सुरेश शामिल था।

वर्किंग पार्टनर है मंजल

एएसपी सिंह ने बताया कि जयपुर मुख्यालय से जानकारी मिली कि अलवर ईएसआईसी (ईम्पलॉय स्टेट इंश्योरेंस कॉपरेशन) हॉस्पिटल एण्ड मेडिकल कॉलेज में एम.जे. सोलंकी कम्पनी के जरिए तकनीकी स्टाफ के लिए विभिन्न पद पर चयन करने के लिए संविदाकर्मियों की भर्ती कर रही है।

राज्य सरकार की ओर से संविदाकर्मियों को देय राशि के अलावा उन्हें संविदा पर रखने की एवज में प्रत्येक व्यक्ति से भरत पूनिया की ओर से अवैध राशि वसूली जा रही थी। वसूली गई राशि का कुछेक हिस्सा गुजरात राजकोट एम. जे. सोलंकी कम्पनी के वर्किंग पार्टनर मंजल पटेल को दिया गया है। मंजल रकम लेकर गुजरात नम्बर की कार से जोधपुर के लिए रवाना हुआ था।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned