कई साल से पथरा गई थी आंखें, अचानक यूं यूं छलक पड़ी खुशियां

अदालत में पहुंचा और उसने समझौते में अपनी सकारात्मक भावनाएं प्रकट की।

By: raktim tiwari

Published: 25 Apr 2018, 09:00 AM IST

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में आयोजित दूसरी राष्ट्रीय लोक अदालत में ७४० प्रकरणों का निस्तारण एक ही दिन में किया गया।

राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 10964 प्रकरण रखे गए जिसमें से 7185 प्रकरण न्यायालयों में लंबित प्रकरण तथा 3779 से अधिक प्री-लिटिगेशन के प्रकरण बैंच के समक्ष रखे गये, जिसमें से 740 निस्तारित हुए और 5,68,04,874 रुपये की अवार्ड राशि पारित की गई।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला न्यायाधीश विनोद भारवानी व पूर्णका लिक सचिव राकेश गोरा ने बताया कि लोक अदालत का उद्देश्य आपसी सद्भावना व राजीनामे से प्रकरणों का निस्तारण करना है। इसमें वकीलों को नियुक्त करने की भी जरुरत नहीं रहती। मुख्यालय पर 23 बैंचों का गठन व ताल्लुका स्तर पर 18 बैंचों का गठन किया गया।

कुछ सफल प्रकरण एक नजर में

केस संख्या एक- न्यायालय केकड़ी में लंबित प्रकरण ग्राम पारा निवासी लादूराम पुत्र रामदयाल माली के द्वारा 15 वर्ष पूर्व में लिये गये 30,000 रुपये की ऋ ण की अदायगी उसके भाई कैलाश माली जो कि दोनों पैरो से विकलांग था, 47,500 रुपये के ऐवज में मात्र 17,500 रुपये में निस्तारण हो गया।

दोनों भाईयों का विवाद समाप्त

केस संख्या दो - ताराचंद चौहान मकान की भू- तल की मंजिल की पूर्व दिशा की ओर खुलती हुई खिड़कियां वीरसिंह की ओर से बंद किये जाने की शिकायत लेकर एक वाद अधिनस्त न्यायालय में वर्ष 2009 में प्रस्तुत किया गया था, जो खारिज कर दिया गया। ताराचंद अपनी किडनी की बीमारी से ग्रसित होकर सप्ताह में दो बार डायलेसिस करवाते हुए भी समझौते की भावना से राष्ट्रीय लोक अदालत में पहुंचा और उसने समझौते में अपनी सकारात्मक भावनाएं प्रकट की। मालूम हो कि लोक अदालतों ने कई बरसों पुराने लम्बित मुकदमों को सुलझाने में मदद की है।

आंकड़ों की जुबानी
१. बैंक रिकवरी के 69 प्रकरण निस्तारित हुए जिसमें से 32,74,489 रुपये की अवार्ड राशि पारित

2. वैवाहिक विवाद के 77 प्रकरणों का निस्तारण
3. एन.आई.एक्ट 237 प्रकरण निस्तारित हुए जिनमें 2,73,25,475 रुपये का अवार्ड राशि पारित

4. दस साल पुराने 21 व पांच साल पुराने 34 प्रकरण निपटाए।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned