scriptMBBS student returned from Ukraine narrated his ordeal | Ukraine Russia War : बमबारी और बर्फबारी के बाद जब वतन वापसी हुई तो छलछलाई आंखें | Patrika News

Ukraine Russia War : बमबारी और बर्फबारी के बाद जब वतन वापसी हुई तो छलछलाई आंखें

यूक्रेन में बमबारी और फिर रोमानिया बॉर्डर पर दो दिन भूख-प्यास और बर्फबारी के बीच बिताने के बाद जब वतन वापसी हुई तो आंखें छलछला गईं। परिवार के सदस्यों के बीच जब खुद को सुरक्षित पाया तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा

अजमेर

Updated: March 04, 2022 04:01:11 am

मसूदा ( अजमेर ).

पहले यूक्रेन में बमबारी और फिर रोमानिया बॉर्डर पर दो दिन भूख-प्यास और बर्फबारी के बीच बिताने के बाद जब वतन वापसी हुई तो आंखें छलछला गईं। परिवार के सदस्यों के बीच जब खुद को सुरक्षित पाया तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वहीं पिछले कई दिन से जिगर के टुकड़े की सुरक्षित वापसी की राह तक रहे परिजन की भी अश्रुधारा फूट पड़ी।
Ukraine Russia War : बमबारी और बर्फबारी के बाद जब वतन वापसी हुई तो छलछलाई आंखें
Ukraine Russia War : बमबारी और बर्फबारी के बाद जब वतन वापसी हुई तो छलछलाई आंखें
कुछ ऐसा ही दृश्य बन पड़ा गुरुवार को किशनगढ़ एयरपोर्ट पर जब यूक्रेन रूस के बीच चल रहे युद्ध के दौरान यूक्रेन में फंसा अजमेर जिले के मसूदा कस्बे के समीप धोलादांता ग्राम का पंकज काठात सुरिक्षत वापस लौटा।
दरअसल धोलादातां निवासी राजेन्द्र सिंह का पुत्र पंकज काठात मेडीकल की पढाई करने के लिए यूक्रेन गया था। वह टरनाेपील में एमबीबीएस अंतिम वर्ष की पढाई कर रहा था। यूक्रेन एवं रूस में युद्ध शुरू हो जाने से पंकज यूक्रेन में फंस गया। वहां भारी बमबारी शुरू होने से परिजन की चिंता बढ़ गई।
READ MORE : PAKISTAN से आया जासूस के खाते में पैसा

गुरुवार को उसके सकुशल घर लौटने पर परिजन की खुशी का ठिकना नहीं रहा। वहीं ग्रामीणों ने भी पंकज का ढोल-ढमाके और माल्यार्पण कर स्वागत किया।
दो दिन बॉर्डर पर खड़े रहे, पैरों में आ गई सूजन

यूक्रेन से लौटे पंकज ने मसूदा पहुंच आपबीती बताई। उसने बताया कि वह यूक्रेन के टरनोपील में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए गया था। यूक्रेन व रूस मेें युद्ध शुरू होने पर 25 फरवरी को साथियों के साथ अपने स्तर पर वाहन करके उस पर भारत का झंडा लगाकर रोमानिया बॉर्डर पहुंचा।
इस दौरान यूक्रेन पर बमबारी हो रही थी। रोमानिया बॉर्डर पहुंचे तो वहां यूक्रेन व अन्य देशों के लोग एवं छात्र भी मौजूद थे। भारत के छात्रों को रोमानिया में प्रवेश देने को लेकर उनके विरोध से बार-बार बॉर्डर बंद हो जाने एवं बर्फबारी हाेने से वह दो दिन तक बॉर्डर पर खडे रहे। इस दौरान पैरों में सूजन आ गई तो साथ ही भूख प्यास आदि परेशानियों से भी जूझते रहे।
READ MORE : पहले संपत्ति बांटी, फिर किया अंतिम संस्कार

तीसरे दिन शाम को उनके मेडीकल कॉलेज के डीन के आने के बाद रोमानिया में प्रवेश मिला। इसके बाद भारत सरकार एवं रोमानिया द्वारा सभी भारतीय विद्यार्थियों को फाइव स्टार होटल जैसी सुविधाएं मुहैया कराई गईं। बुधवार को वह रोमानिया से भारत के लिए रवाना हुआ। सुरक्षित घर लौटने एवं परिजन के साथ होने से खुशी है।
किशनगढ एयरपोर्ट पर छलके आंसू

यूक्रेन में समस्याओं से जूझकर जब पंकज गुरुवार को किशनगढ़ एयरपोर्ट पहुंचने पर जब बाहर आया तो पिता राजेन्द्र सिंह को सामने देख आंसू छलक उठे। विकट हालात के बीच छात्र के सकुशल लौटने पर परिजन की भी अश्रुधारा बहने लगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारInflation Around World : महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारपंजाब में दिल्ली का विकास मॉडल, CM भगवंत मान का ऐलान- 15 अगस्त को राज्य को मिलेंगे 75 नए मोहल्ला क्लीनिकराहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'पैंगोंग झील के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सरकार सिर्फ निगरानी ही कर रही है'दो साल बाद अपनों के बीच पहुंचते ही आजम खान ने बयां किया दर्द, बोले- मेरे साथ जो-जो हुआ वो भूल नहीं सकतापहली बार Yogi आदित्यनाथ की तारीफ में बोले अखिलेश यादव 'यूपी में Technology'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.