पावर हाउस चालू करने के लिए एमडी ने दिया तीन दिन का अल्टीमेटम

राखी तक चार्ज करें भूडोल पावर हाउस
एमडी ने किया पावर हाउस कार्य का निरीक्षण

कमियां सुधारने के दिए निर्देश

By: bhupendra singh

Published: 01 Aug 2020, 08:12 AM IST

अजमेर. अजमेर विद्युत वितरण निगम ajmer discom के प्रबन्ध निदेशक वी.एस.भाटी ने शुक्रवार को भूडोल स्थित नव निर्मित पावर हाऊस का निरीक्षण कर कमियों को दूर कर पावर हाउस को चालू करने के लिए अभियंताओं को तीन दिन का अल्टीमेटम दे दिया। एमडी ने कहा कि पावर हाउस की कमियों को तत्काल प्रभाव से दूर कर राखी तक चार्ज कर दिया जाए start a power house। उन्होंने बताया कि विद्युत लाईन में कमियां पाई गई है, किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होनें ट्रंासफार्मर में ऑयल डालने,अतिरिक्त टावर लगाने,बे्रकर बदलने के निर्देश दिए है। गौरतलब है कि प्रबन्ध निदेशक ने गुरूवार को पावर हाऊस विद्युत लाईन कार्य में लापरवाही बरतने पर निगम के अधिशासी अभियंता प्रोजेक्ट आर.डी.बारहठ को निलम्बित किया था। एमडी भाटी ने बताया कि भूडोल पावर हाऊस लाईन के निरीक्षण के लिए गठित जांच कमेटी ने निरीक्षण के दौरान पाया था कि कई जगह लाइन सीधी नहीं है,पोल टावर व लाइन डीपी तिरछी है,फ ाउंडेशन आधे-अधूरे तैयार किए गए है, अर्थ वायर नहीं डाला गया है। इसी तरह 42 फ ीट की जगह 36 फ ीट के टावर लगाए गए हैं। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त मुख्य अभियंता एम.एल.मीणा,एसई गोपाल चतुर्वेदी,एसई प्रोजेक्ट पी.के.जैन सहित निगम के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

चौथे दिन भी चार्ज नहीं कर पाए लाइन

निगम के अभियंता पिछले चार दिन से भूडोल जीएसएस की 33 केवी लाइन को चार्ज कर रहे हैं। लेकिन यह लाइन चार्ज नहीं हो रही है। बार-बार तकनीकी खामी के कारण लाइन फाल्ट हो रही है। इससे गड़बडिय़ों का अंदाजा लगाया जा सकता है।
एक्सईएन बारेठ पर कई आरोप

भूडोल जीएसएस निर्माण में अनियमितता के मामले में निलम्बित हुए एक्सईएन आर.डी.बारेठ अपने कारनामों को लेकर पहले भी चर्चा में रहे हैं। पुष्कर में लाखों रुपए की बिजली चोरी का मामला रफादफा करने,धारा 7 की चार्जशीट लम्बित होने के बावजूद विदेश यात्रा की अनुमति हासिल कर यात्रा करने,सहायक अभियंता के पद पर होने के बावजूद प्रोजेक्ट विंग के 100 करोड़ के प्रोजेक्ट का काम देखने,फ्रैंचायजी क्षेत्र में ट्रांसफार्मर लगाने,लोहागल जीएसएस निर्माण में गड़बड़ी का मामला सामने आ चुका है। बारहठ के खिलाफ जयपुर की एक कोर्ट में मुकदमा विचाराधी है है जिससे को कारण बारहठ का पदोन्नति का लीफाफा बंद है, वे अभी भी सहायक अभियंता के पद ही है हालांकि कि उन्हें अधिशाषी अभियंता के पद के विरुद्ध लगाया गया था।
मंत्री को दिखाने के लिए टावर पर डाली थी लाइन

एक्सईएन बारेठ ने चन्द्र वरदाई स्टेडियम के पीछे तत्तकालीन ऊर्जामंत्री को दिखाने के लिए 42 फुट के टावर पर 33 केवी लाइन डालने और उनके जाते ही लाइन हटाकर 33 केवी की भूमिगत केबल डालने कर निगम को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाने के मामले में भी चर्चा में रहे है।
एईएन-जेईएन पर भी करो कार्रवाई

भूडोल पावर हाउस में निर्माण में हुई अनियमितताओं की उच्चस्तरीय जांच के लिस स्थानीय विधायक सुरेश रावत ने इस मामले को विधानसभा में उठाने की चेतावनी दी है। रावत के अनुसार हजारों ग्रामीण परेशान हैं। पिछले साढ़े तीन साल से कुछआ चाल से जीएसएस बनाया जा रहा है। निर्माण में गंभीर अनियमितताएं है, निगम के केवल एक्सईएन पर ही कार्रवाई की है। प्रोजेक्ट विंग के एईएन व जेईएन पर भी कार्यवाई की जाए। जेईएन पर कार्यवाही के बजाय उसे करोड़ो रुपए का भूमिगत केबलिंग का प्रोजेक्ट नाथद्वारा में सौंप दिया गया। भूडोल का उदाहरण सामने है अब वहां कैसा काम होगा इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

read more:‘कारगुजारियों पर पर्दा’ डाल,पावर हाउस चालू करने में जुटे अभियंता

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned