MDSU: पहले ही अतिरिक्त जिम्मेदारी, अब संभालेंगे नए विभाग

अतिरिक्त जिम्मेदारियां संभाल रहे शिक्षक अब नए विभागों का कामकाज भी देखेंगे।

By: raktim tiwari

Published: 10 May 2020, 09:24 AM IST

अजमेर.

शिक्षकों की कमी से जूझते महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय की परेशानियां और बढ़ेंगी। पहले ही अतिरिक्त जिम्मेदारियां संभाल रहे शिक्षक अब नए विभागों का कामकाज भी देखेंगे।

विश्वविद्यालयय में कला, वाणिज्य, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, विधि, पत्रकारिता और अन्य संकाय संचालित हैं। मौजूदा वक्त 18 स्थाई शिक्षक कायर्रत हैं। इनमें 16 प्रोफेसर और 2 रीडर शामिल हैं।

खुलेंगे यह नए विभाग-कोर्स
-चार वर्षीय बीए-बीएससी बीएड-2 और 5 वर्षीय एलएलबी कोर्स
-बीपीएड और एमपीएड, बीए/एम.ए फाइन आट्र्स
-डी-फार्मा और बी-फार्मा कोर्स
-एमएससी फिजिक्स और केमिस्ट्री
-बीसीए ऑनर्स और पीजीडीसीए एमबीए इन सर्विसमैनेमेंट, एमबीए इन एग्जिक्यूटिव मैनेजमेंट
-एमबीए इन ट्रेवल एन्ड टूरिज्म कोर्स

Read More: लॉक डाउन से हालत खस्ता अब आंधी-तूफान ने पहुंचाया करोडों का नुकसान

इन विभागों में करनी होगी व्यवस्था
कॉमर्स-प्रो. बी. पी. सारस्वत के स्थान पर
जनसंख्या अध्ययन- प्रो. लक्ष्मी ठाकुर के स्थान पर
फिजिक्स-केमिस्ट्री, गणित-विज्ञान विभाग से
बीए-बीएससी बीएड-सोशल साइंस विभाग से
एमबीए के नए कोर्स-प्रबंधन अध्ययन विभाग से
भूगोल-रिमोट सेंसिंग विभाग से

Read More: अब नहीं जुटते रिश्तेदार, नहीं ललचाते लजीज व्यंजन और पकवान

अभी ये है स्थिति
इतिहास, राजनीति विज्ञान, रिमोट सेंसिंग में एक भी स्थाई शिक्षक नहीं है। कॉमर्स, कम्प्यूटर विज्ञान, प्योर एन्ड एप्लाइड केमिस्ट्री, अर्थशास्त्र, जनसंख्या अध्ययन विभाग में महज एक-एक शिक्षक है। लॉ, हिन्दी और पत्रकारिता विभाग में शिक्षकों के पद सृजित नहीं हुए हैं। इन विषयों को विश्वविद्यालय के मैनेजमेंट, अर्थशास्त्र और अन्य विभागों के प्रोफेसर चला रहे हैं।

स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में दिखेंगे नए बदलाव

अजमेर. सीबीएसई, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सहित देश के सभी स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में कई बदलाव दिखेंगे। पढ़ाई के अलावा इन्हें कामकाज का तरीका भी बदलना पड़ेगा। इनमें प्रार्थना सभा/एसेम्बली पर रोक, ऑड-ईवन फार्मूल से बच्चों की पढ़ाई जैसे कदम उठाने पड़ सकते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के चलते स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ाई और परीक्षाएं ठप है। कहीं जून तो कहीं जुलाई में प्रवेश/वार्षिक परीक्षाएं होनी हैं।

COVID-19 virus
raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned