MDSU: बीत रहा दिसंबर, परीक्षा फार्म का नहीं अता-पता

नियमानुसार विश्वविद्यालय को निविदा आमंत्रित कर तकनीकी फर्म से टेंडर लेने पड़ते हैं। इसके बाद कम रेट और बेहतर कामकाज वाली फर्म को कामकाज सौंपा जाता है।

By: raktim tiwari

Published: 18 Dec 2020, 09:44 AM IST

अजमेर. साल 2020 का अंतिम महीना बीतने वाला है। महर्षि दयानंद सरस्वती के सालाना परीक्षा फार्म का अता-पता नहीं है। न परीक्षा फार्म भरवाने वाली फर्म ना कोई प्रक्रिया तय हुई है। अब जनवरी-फरवरी में ही फॉर्म भरवाए जाने के आसार हैं।
विश्वविद्यालय ऑनलाइन परीक्षा फार्म निजी कम्प्यूटर फर्म से भरवाता है। केवल साल 2016 को छोड़कर प्रशासन प्रतिवर्ष नवम्बर-दिसम्बर के बीच परीक्षा फार्म भरवाता रहा है। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण से हालात विपरीत हैं। अव्वल तो कॉलेज और विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया में विलंब हुआ। तिस पर कोरोना का असर बरकरार है। सभी संस्थानों में ऑफलाइन कक्षाएं ठप हैं।

होनी है फर्म तय

नियमानुसार विश्वविद्यालय को निविदा आमंत्रित कर तकनीकी फर्म से टेंडर लेने पड़ते हैं। इसके बाद कम रेट और बेहतर कामकाज वाली फर्म को कामकाज सौंपा जाता है। लेकिन दिसंबर आधा बीतने के बाद भी प्रशासन ने परीक्षा फार्म भरवाने वाली कम्प्यूटर फर्म तय नहीं की है।

हमेशा पसंदीदा तो देते काम...
परीक्षा फर्म के निर्धारण में परीक्षा विभाग और कुलपतियों की पसंद ही सर्वोपरी रहती है। साल 2017 में तो फर्म को 'खासतौरÓ पर मुलाकात का संदेश भेजा गया था। कुलपतियों और परीक्षा नियंत्रक के बीच परीक्षात्मक गोपनीय कामकाज होते हैं। घूसकांड में निबटा रामपाल सिंह की तो इस पर खास नजरें थीं। वह मनमाने ढंग से परीक्षा केंद्र बनवाने, कॉलेज की सम्बद्धतास चहेती फर्म से डिग्री का कागज और कामकाज सौंपने, करीब 5 करोड़ से ईआरपी सिस्टम और अन्य मामलों में डील कर रहा था।

वर्ष 2011 में भी हुई थी देरी....
वर्ष 2011 में तत्कालीन संभागीय आयुक्त और कार्यवाहक कुलपति अतुल शर्मा के कार्यकाल में भी परीक्षा फार्म भरवाने में देरी हुई थी। शर्मा ने राजकॉम्प से ऑनलाइन परीक्षा फार्म भरवाने की इच्छा जताई थी। लेकिन विश्वविद्यालय में सहमति नहीं बन सकी। प्रशासन ने 11 महीने यूं ही निकाल दिए। आनन-फानन में दिसंबर अंत में दूसरी निजी फर्म को कामकाज सौंपा गया था।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned