scriptMDSU: Exam controller like to left from post | MDSU: पद से हटना चाहते हैं परीक्षा नियंत्रक, लिख दिया ये लेटर..... | Patrika News

MDSU: पद से हटना चाहते हैं परीक्षा नियंत्रक, लिख दिया ये लेटर.....

अफसरों के बीच कोर्ट केस और विवाद को देखते हुए प्रशासन किसी शिक्षक को ही यह जिम्मेदारी सौंप सकता है।

अजमेर

Published: April 03, 2022 05:00:04 pm

अजमेर. महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक प्रो.शिवदयाल सिंह ने पद छोडऩे की इच्छा जताई है। उन्होंने कुलपति प्रो. अनिल कुमार शुक्ला को पत्र लिखा है। अब विवि को नया परीक्षा नियंत्रक तलाशना होगा। अफसरों के बीच कोर्ट केस और विवाद को देखते हुए प्रशासन किसी शिक्षक को ही यह जिम्मेदारी सौंप सकता है।
mdsu exam controller
mdsu exam controller
तत्कालीन कुलपति ओम थानवी ने पिछले साल 28 जुलाई को अर्थशास्त्र विभागागाध्यक्ष प्रो.शिवदयाल सिंह को परीक्षा नियंत्रक की जिम्मेदारी सौंपी थी।

कुलपति को भेजा पत्र

प्रो. सिंह ने हाल ही कुलपति प्रो. अनिल कुमार शुक्ला को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने परीक्षा नियंत्रक पद छोडऩे की इच्छा जताते हुए जल्द ही कार्यभार किसी अन्य को सौंपने का अनुरोध किया है।
2017 से पद पर विवाद. . .

विवि में साल 2017 से परीक्षा नियंत्रक पद पर विवाद कायम है। तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक डॉ. जगराम मीणा की सेवानिवृत्त के बाद विवि के दो अधिकारियों के बीच पद को लेकर ठनी हुई है। कोर्ट में याचिका भी दायर की गई है। विवाद के चलते साल 2017 में रिमोट सेंसिंग विभागाध्यक्ष प्रो. सुब्रतो दत्ता को परीक्षा नियंत्रक की जिम्मेदारी दी गई। वे जुलाई 2021 तक इस पद पर रहे। राजभवन ने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों को पिछले साल पत्र भेजकर तीन साल या इससे समय से कार्यरत परीक्षा नियंत्रकों के स्थान पर किसी अन्य को जिम्मेदारी सौंपने का कहा। इसके तहत प्रो. शिवदयाल सिंह को प्रभार सौंंपा गया।
नहीं है पर्याप्त स्टाफ

अनुभाग अधिकारियों-कनिष्ठ/वरिष्ठ लिपिकों की लगातार सेवानिवृत्तियों से परीक्षा विभाग में कामकाज प्रभावित हो रहा है। दूसरे विभागों में कार्यरत कार्मिकों को परीक्षा विभाग में अतिरिक्त कामकाज करना पड़ रहा है। टीआर में करेक्शन, परीक्षा फार्मों की जांच सहित अन्य कार्यों में परेशानियां बनी हुई हैं।
बना दिए थे मनमाने परीक्षा केंद्र

घूसकांड में फंसे पूर्व कुलपति रामपालसिंह ने एक समिति गठित कर नियमों को दरकिनार कर परीक्षा केंद्र बनवाए थे। पिछले साल उच्च स्तरीय समिति की सिफारिश पर पुराने नियमों के अनुसार ही केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: 16 बागी विधायक अगर फ्लोर टेस्ट में नहीं देंगे वोट तो क्या होगी तस्वीर, यहां जानें पूरा समीकरणMaharashtra Political Crisis: क्या उद्धव ठाकरे के इस फैसले ने बिगाड़ा सारा खेल! NCP की भूमिका पर भी उठ रहे है सवालMaharashtra Political Crisis: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज शाम 5 बजे होगी सुनवाईपहले खुलेआम कन्हैयालाल की नृशंस हत्या की धमकी, फिर सिर कलम कर दिया, आतंकियों की करतूतों से मेल खाता है तरीकानवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने कहा- 2/3 बहुमत है हमारे पासSecurity To Ambani Family: मुकेश अंबानी की सुरक्षा से जुड़े मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई त्रिपुरा HC के आदेश पर रोकजावेद पंप ने खोला राज, अटाला हिंसा में मौलाना और कई नेताओं के नाम आए सामने
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.