MDSU: कुलपति को गेस्ट हाउस के टॉयलेट में साबुन मिला ना टॉवेल

मामले को गंभीर मानते हुए कुलसचिव ने गेस्ट हाउस प्रबंधक को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

By: raktim tiwari

Published: 21 Feb 2021, 08:20 AM IST

रक्तिम तिवारी/अजमेर.

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अपने कुलपति की परवाह नहीं करता। अतिथियों के लिए बने श्रद्धानंद गेस्ट हाउस में खुद कुलपति बदइंतजामी के शिकार हुए। ना उनके कमरे के बाथरूम में तौलिया मिला ना साबुन। सुरक्षा गार्ड भी बगैर सूचना दिए चला गया। मामले को गंभीर मानते हुए कुलसचिव ने गेस्ट हाउस प्रबंधक को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

दरअसल कुलपति ओम थानवी 14 फरवरी को अजमेर आए थे। वे रात्रि में श्रद्धानंद अतिथि गृह में ठहरे। यहां कथित तौर पर मामा नाम के व्यक्ति ने कमरा नंबर 4 खोला। जबकि वह विवि का स्थाई कर्मचारी नहीं है। ड्यूटी छोड़ गया गार्डकुलपति 15 फरवरी को सुबह उठे थो सुरक्षा गार्ड ड्यूटी पर नहीं मिला। वापसी में लौटा तो उन्होंने कारण पूछा। इस पर गार्ड ने रोजाना हाजिरी के लिए विवि परिसर जाना बताया। इसे कुलपति ने ड्यूटी में लापरवाही माना।

साबुन मिला ना टॉवेल
कमरा नंबर 4 में ड्राइंग रूम और अंदर बेडरूम बना है। कुलपति पहुंचे तो बेडरूम में चद्दर और तकिए गंदे मिले। वे टॉयलेट में पहुंचे तो साबुन और टॉवल तक नहीं मिला। ना ही कुलपति के लिए टी-पॉट अथवा केतली मिली। अंदर और बाहर के दरवाजों के फिक्सचर भी खराब थे। कक्ष में सहायक कर्मचारी को बुलाने के लिए डोरबेल भी नहीं मिली।

मैनेजर को बनाते हैं ओआईसी
गेस्ट हाउस मैनेजर को विवि ने उन्हें अदालती मामलों में ओवाईसी बनाया हुआ है। वे कई बार कोर्ट की पत्रावलियां लेकर जयपुर जाते हैं। हाल में भी यही हुआ। मैनेजर ने छुट्टी अर्जी में मुख्यालय उदयपुर बताया। नियमानुसार उसमें निवास स्थान की जानकारी नहीं दी। इस अर्जी को कुलपति ने पकड़ लिया।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned