scriptMDSU: Inter college cultural fest start from 8th april | MDSU: दो साल बाद स्टेज पर लौटेगी रौनक, दिखेगा स्टूडेंट्स का जलवा | Patrika News

MDSU: दो साल बाद स्टेज पर लौटेगी रौनक, दिखेगा स्टूडेंट्स का जलवा

प्रतियोगिता में अजमेर, नागौर, भीलवाड़ा और टोंक के विद्यार्थी भाग लेंगे।

अजमेर

Published: April 07, 2022 08:03:25 pm

अजमेर. महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के तत्वावधान में 8 और 9 अप्रेल को अन्तर कॉलेज सांस्कृतिक कार्यक्रम (आईसीसीसी) का आयोजन किया जायेगा। इसमें 17 कॉलेज के 300 प्रतिभागी विभिन्न प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगे।

दो साल कोरेाना संक्रमण के चलते कार्यक्रम नहीं हुए थे। इस साल हालात सामान्य होने से विश्वविद्यालय सांस्कृतिक कार्यक्रम करा रहा है। डीन छात्र कल्याण प्रो. प्रवीण माथुर ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव थीम पर शुक्रवार को ऑन स्पॉट पेंटिंग, कोलाज, पोस्टर मेकिंग, क्ले मॉडलिंग, रंगोली, स्पॉट फोटोग्राफी, मेहंदी, क्विज, इलोक्यूशन, वाद-विवाद, वन एक्ट प्ले, स्किट, माइम, मिमिक्री प्रतियोतता होगी।
inter college cultural programme
inter college cultural programme
शनिवार को शास्त्रीय एवं पाश्चात्य गायन (एकल) एकल और युगल गीत, नृत्य,एकल (वाद्य यंत्र) वाद्य यंत्र, समूह नृत्य, लोकनृत्य प्रतियोगिताएं होंगी। प्रतियोगिता में अजमेर, नागौर, भीलवाड़ा और टोंक के विद्यार्थी भाग लेंगे।

Read more: प्रदेश के युवाओं में भरपूर टेलेंट, केवल तराशने की जरूरत- पूनिया
अजमेर. राजस्थान के युवाओं में टेलेंट की कोई कमी नहीं है। गांव-ढाणी और शहरों तक छात्र-छात्राएं खेलों में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे टेलेंट को तलाश कर उन्हें उचित प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि वे राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राज्य का नाम रोशन करें। यह बात राजस्थान क्रीड़ा परिषद की अध्यक्ष कृष्णा पूनिया ने पत्रकारों से बातचीत में कही। उन्होंने कहा कि कभी संसाधनों कमी के चलते राजस्थान के होनहार खिलाड़ी हरियाणा, पंजाब और अन्य राज्यों से खेलते थे। लेकिन अब सरकार ने खिलाडि़यों की कोचिंग और संसाधनों पर जोर दिया है। प्रत्येक संभाग मुख्यालय पर आधुनिक जिम बनाए जा रहे हैं। ताकि खिलाडि़यों की फिटनेस ठीक रहे। खिलाडि़यों के खातों में सीधी राशि ट्रांसफर करने और खेल कोटे से सरकारी नौकरियां मिल रही हैं। यह राज्य को खेलकूद का सिरमौर बनाने की शुरुआत है।
सवाल- चंदवरदाई स्टेडियम जैसे प्रशिक्षण सेंटर बन जाते हैं, लेकिन उनका उचित रखरखाव नहीं होने से हालत खराब हो रही है।

पूनिया-यह सही है कि रखरखाव नहीं होने से खेलकूद स्थल खराब होते हैं। लेकिन यह जनहित से जुड़ी सुविधाएं हैं। जिनके लिए कोई टैक्स या आय अर्जित नहीं कर सकते। भामाशाहों को आगे आकर इनके लिए सहयोग देना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.