स्कूल, कॉलेजों व कोचिंग संस्थानों के खुलने को लेकर बैठक का आयोजन

बिना मास्क नहीं दी जाए एंट्री, गाइडलाईन की पालना जरूरी-डीएम

जिला कलेक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने विद्यालयों, कॉलेजों तथा कोचिंग संस्थान में शैक्षणिक गतिविधियां पुन: प्रारंभ किए जाने को लेकर जिला कलेक्ट्रेट सभागार में सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के संस्थापक व जिला शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया।

By: Dilip

Published: 12 Jan 2021, 12:53 AM IST

धौलपुर. जिला कलेक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने विद्यालयों, कॉलेजों तथा कोचिंग संस्थान में शैक्षणिक गतिविधियां पुन: प्रारंभ किए जाने को लेकर जिला कलेक्ट्रेट सभागार में सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के संस्थापक व जिला शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया।

उन्होंने कहा कि दस माह से अधिक समय से बंद पड़े स्कूलों, कॉलेज व कोचिंग संस्थानों में शैक्षणिक गतिविधियां सरकार के प्रोटोकॉल की पालना में पुन: प्रारंभ में हो सकेंगी। 18 जनवरी से 9 वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के विद्यालयों में आने से स्कूलों में रौनक लौटेगी। शिक्षा विभाग व निजी स्कूल संचालकों को स्कूल खोलने की तैयारियां व प्रोटोकॉल की पालना के निर्देश दिए। सरकार की गाइडलाईन की पालना करने एवं कक्षा 9 से 12 तक की केजीबीवी हॉस्टल 50 प्रतिशत ठहराव, कक्षा 9 से 12 तक के सरकारी व गैर सरकारी स्कूल, कॉलेज व कोचिंग संस्थानों खोले जाने हैं।

स्वास्थ्य स्वच्छता एवं संरक्षा के लिए मानक संचालन प्रक्रिया अपनाने पर जोर

जिला कलेक्टर ने कहा कि विद्यालय एवं कोचिंग संस्थान खुलने से पूर्व समस्त परिसर, फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, शौचालय, भंडार कक्ष पानी की टंकियाँ, अथवा अन्य स्थान किचिन, प्रयोगशाला एवं अन्य समस्त संस्थानों को संक्रमण मुक्त करने के लिए सेनेटाइज कर स्वच्छ एवं व्यवस्थित किया जाएगा।
विद्यार्थी लंच के समय अपने कक्ष में ही भोजन करेंगे। विद्यालय के वाहन, बाल वाहिनी का उपयोग प्रारंभ करने से पूर्व उसे पूरी तरह से सेनेटाइज किया जाए। विद्यार्थियों को पीने का पानी यथासंभव घर से लाना होगा।

मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सियाराम मीणा को निर्देश देते हुए कहा कि खुलने वाले विद्यालयों की सूची मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को उपलब्ध कराई जाए। जिला शिक्षा अधिकारी ने आदेश जारी किए है। जिले में सरकारी व गैर-सरकारी विद्यालयों आरबीएसई व सीबीएसई स्कूल की सभी कक्षाओं में क्षमता से आधे विद्यार्थियों को बिठाने के आदेश जारी किए गए हैं। विद्यार्थी एक दिन के अंतराल से आ-जा सकेंगे। विद्यार्थियों को अभिभावकों की लिखित अनुमति भी लाना होगा। बैठक में एडीपीसी मुकेश गर्ग, कार्यवाहक सहायक निदेशक आईसीडीएस भूपेश गर्ग, एसीपी बलभद्र सिंह, सहायक प्रशासनिक अधिकारी अशोक उपाध्याय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
ये रहेगी गाइड लाइन

- स्कूलों में विद्यार्थियों के आगमन व प्रस्थान का समय अलग-अलग
- विद्यार्थियों की उपस्थिति के लिए अभिभावकों की सहमति जरुरी,

शिक्षक-विद्यार्थी के लिए मास्क जरुरी, बिना मास्क प्रवेश नहीं।
- शिक्षक फेसशील्ड का प्रयोग कर सकेंगे

- बच्चा मास्क में नहीं आया है तो वह घर नहीं लौटेगा उसे मास्क देना होगा।
- एक सीट पर एक ही बच्चा बैठेगा।

- सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जाएगी।
- प्रार्थना सभा, सामूहिक खेल, उत्सवों के आयोजन, रैली, सभाओं पर अनिवार्य रुप से रोक रहेगी।

- प्रवेश के लिए पूरा एंट्री गेट खुलेगा।
- कोई भी विद्यार्थी अपना पेन, नोटबुक व किताब दूसरों से साझा नहीं करेगा।

- विद्यालय में हाथों को सेनेटाइज, थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था रहेगी।
विद्यार्थियों को घर से पानी की बोतल लानी होगी।

- स्कूल में स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाया जाएगा।
- कोविड-19 रोकथाम व बचाव के पोस्टर्स नोटिस बोर्ड और मुख्य द्वार

- यदि बाल वाहिनी है तो पहले व बाद में पूरी सेनेटाइज होगी।
- स्कूल के फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, शौचालय, पानी की टंकियों को सेनेटाइज किया जाए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned