कोरोना काल में मिल्क बैंक हुए कंगाल. . .!

मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पताल के मिल्क बैंक में टोटा, कई नवजात को मिला है इससे जीवनदान, अजमेर में स्टोरेज बंद, जोधपुर-कोटा-जैसलमेर में शुरू ही नहीं

By: CP

Published: 21 Nov 2020, 01:25 PM IST

चन्द्र प्रकाश जोशी

अजमेर. मां के दूध से वंचित नवजात शिशुओं की इम्यूनिटी पावर बढ़ाने एवं उन्हें मां का दूध मुहैया करवाने के सार्थक उद्देश्य से प्रारंभ किए गए मिल्क बैंक/स्टोरेज यूनिट में कुछ जगह मां के दूध की पूंजी का टोटा पडऩा शुरू हो गया है। कोरोना संक्रमण के चलते कहीं मिल्क स्टोरेज यूनिट बंद हो गए, तो कुछ जगह धात्री माताओं की ओर से दुग्धदान कम हो रहा है।
प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध जनाना अस्पतालों व अन्य में मदर मिल्क बैंक एवं मदर मिल्क स्टोरेज यूनिट प्रारंभ किए गए थे। इनमें धात्री माताओं की ओर से मदर मिल्क डोनेट किया जा रहा था। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते कई धात्री माताएं मदर मिल्क डोनेट करने से परहेज करने लगीं तो कहीं अस्पताल प्रशासन ने ही हाथ खींच लिए।

जनाना अस्पताल में मदर मिल्क स्टोरेज यूनिट ठप

अजमेर के राजकीय जनाना अस्पताल में मदर मिल्क स्टोरेज यूनिट लम्बे समय से बंद है। कोरोना संक्रमण के चलते ट्रांसपोर्टेशन बंद होने से यहां अन्य जिलों से मदर मिल्क की सप्लाई बंद हो गई। यहां करीब 2000 यूनिट मिल्क स्टोरेज की क्षमता है। लेकिन वर्तमान में एक यूनिट(10 एम.एल.)मिल्क भी उपलब्ध नहीं है।

ऐसे बच्चों के लिए 'संजीवनीÓ है मदर मिल्क
-जिन नवजात की माता बीमार व ब्रेस्ट फीड में असमर्थ हो।

-लावारिस व अनाथ नवजात।
-प्रसूता की मौत के बाद नर्सरी में पल रहे नवजात।

यहां स्थिति बेहद खराब

-जोधपुर, कोटा व जैसलमेर में मदर मिल्क बैंक व स्टोरेज की सुविधा नहीं है। जबकि अजमेर में मदर मिल्क स्टोरेज यूनिट बंद पड़ी है।

प्रदेश के अन्य जिलों के यह हाल. . .

जिला मिल्क डोनेशन लाभान्वित नवजात स्टोरेज क्षमता उपलब्धता

(मिलीमीटर में) (मिलीमीटर में) (मिलीमीटर में)

उदयपुर 575035 1703 3000 2562

भीलवाड़ा 154490 664 750 220

भरतपुर 1563330 5096 700 635

बांसवाड़ा 238360 413 1000 545

बाड़मेर 349 1000 2000 350

(सभी आंकड़े मार्च-2020 से अक्टूबर तक)

इनका कहना है

मदर मिल्क स्टोरेज यूनिट में अन्य जिलों से मदर मिल्क आना बंद हो गया है। कोरोना के समय ट्रांसपोर्ट की सुविधा नहीं मिलने से यहां मदर मिल्क आना बंद हो गया है। दो डीप फ्रीजर उपलब्ध हैं।

-डॉ. नन्दलाल, उप अधीक्षक राजकीय जनाना अस्पताल अजमेर

CP Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned