विधायक का धरना : ब्यावर को जिला बनाओ, कांग्रेस बोली-भाजपा राज में याद क्यों नहीं आई...

अजमेर जिले के ब्यावर उपखंड मुख्यालय को जिला बनाने की मांग बरसों पुरानी, आबादी, क्षेत्रफल व भौगोलिक स्थिति के अनुसार ब्यावर जिला बनने योग्य, भाजपा व कांग्रेस ने उठाई मांग,लेकिन राजनीति हावी

By: suresh bharti

Published: 14 Sep 2020, 10:37 PM IST

ajmer अजमेर. जिले के ब्यावर उपखंड मुख्यालय को जिला बनाने की मांग बरसों पुरानी है। इसे लेकर भाजपा व कांग्रेस के नेता मुखर तो रहे हैं, लेकिन इसमें राजनीति अधिक हुई है। यह मुद्दा चुनावों के समय ही उठाया जाता रहा है। इन दिनों पंचायतीराज के चुनाव होने जा रहे हैं। इसलिए (bjp mla) भाजपा विधायक शंकर सिंह रावत ने जिला बनाने की मांग को लेकर ( protest) धरना शुरू कर दिया। वैसे विधायक रावत ने विधानसभा में भी यह मुद्दा उठाया है तो पदयात्रा भी निकाली है। कांग्रेस ने भी ब्यावर को जिला बनाने के लिए आंदोलन चलाया था। अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन गई तो पार्टी नेता इस मामले को भूल बैठे।

अब क्यों याद आई...

ब्यावर विधायक रावत के धरने पर चुटकी लेते हुए कांग्रेस नेताओं का कहना है कि (bjp) भाजपा का पिछली बार पांच साल राज रहा। तब विधायक रावत को ब्यावर को जिला बनाने की याद क्यों नहीं आई। तब केवल बयानबाजी के सिवाए कुछ नहीं किया। यदि विधायक पद से त्यागपत्र देकर भाजपा सरकार पर दबाव बनाया जाता तो शायद सकारात्मक परिणाम मिलता।

बहराल कुछ भी हो ब्यावर को जिला बनाने की इन दिनों राजनीति गमाई हुई है। राज्य में कांग्रेस की सरकार है। इसलिए ब्यावर के कांग्रेस नेता मुखर नहीं हो सकते। साथ में कांग्रेस राज में ब्यावर को जिला बनाने की घोषणा का विधायक रावत को श्रेय भी नहीं देना चाहते।

( protest) धरना छठे दिन भी जारी

इधर, विधायक शंकरसिंह रावत का ( protest) धरना छठे दिन भी जारी रहा। जैतारण विधायक अविनाश गहलोत एवं साहू समाज की ओर से धरने को समर्थन दिया गया। धनास्थल पर विधायक गहलोत ने कहा कि अगर ब्यावर जिला बनता है तो सबसे ज्यादा फायदा जैतारण क्षेत्र को होगा। जनता को मूलभूत सुविधाओं के लिए पाली जाना पड रहा है, जबकि ब्यावर हमारे नजदीक है। उन्होंने कहा कि ब्यावर को जिला बनाने के लिए (cm) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है।

विकास के नाम सिर्फ दिखावा

जैतारण विधायक ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार अपने खुद के झगड़े नहीं निपटा पा रही है। इसका खामियाजा प्रदेश की जनता भुगत रही है। विकास कार्यों के नाम पर सिर्फ दिखावा हो रहा है। विधायक शंकरसिंह रावत ने कहा कि इस सरकार को जगाने के लिए हमें लंबी लड़ाई लडऩी पड़ेगी। इसलिए सभी एक होकर रहें, क्योंकि यह सरकार खुद के आंतरिक झगड़ों में उलझी हुई है। गहलोत और पायलट समर्थकों के बीच टकराव, तकरार, प्रदर्शन और मारपीट इसका प्रमाण है।

( protest) धरने को मिल रहा समर्थन

सोमवार के धरने पर विधायक रावत के साथ भालिया टॉडगढ़ भाजपा मंडल अध्यक्ष राम सिंह, पूर्व मंडल अध्यक्ष गणपत सिंह, जिला परिषद सदस्य डाऊ सिंह मालावत, बामनहेड़ा सरपंच महिपाल सिंह, बड़ाखेड़ा सरपंच पृथ्वीपाल सिंह आदि बैठे। धरने को सभापति नरेश कनौजिया, उपसभापति रिखबचंद खटोड़, मुरली तिलोकानी, गौतम पहलवान, सम्राट पृथ्वीराज चौहान मंडल अध्यक्ष कानाराम गुर्जर, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष इंदु शर्मा, एससी मोर्चा प्रदेश आमंत्रित सदस्य मुकेश गोयर, पूर्व मंडल अध्यक्ष जयकिशन बल्दुआ, सुभाष राठी आदि लोगों ने संबोधित किया। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व आसींद विधायक भी धरने और ब्यावर को जिला बनाने की मांग को समर्थन दे चुके हैं।

साहू समाज भी आया आगे

चांग गेट पर आयोजित धरने को श्री तेलियान (साहू) समाज समिति ने भी समर्थन किया। इसके लिए पत्र लिखकर और पूरी टीम ने धरने पर उपस्थित होकर विधायक रावत के आंदोलन में सहभागी बना। धरने पर श्रवणसिंह गहलोत मंडल महामंत्री बाबरा, मोहन सिंह, भेणाराम, धर्मीचंद, संपतराज गहलोत, जय सिंह कड़ीवाल, गोपाल सिंह, नीरू चौहान, प्रीति शर्मा, मुन्नी देवी, अंगदराम अजमेरा, सुरेंद्र सोनी, शंकर यादव, जवाजा मंडल अध्यक्ष प्रभु सिंह कोषाध्यक्ष कैलाश चंद सोयल आदि मौजूद रहे।

...तो फिर केकड़ी क्यों नहीं

अजमेर जिले में केकड़ी उपखंड मुख्यालय को जिला बनाने की मांग भी पुरानी है। इसे लेकर बंद, प्रदर्शन व धरने से लेकर ज्ञापन देने जैसे कार्यक्रम हो चुके हैं। (kekari) केकड़ी को जिला बनाने को लेकर तो सर्वे भी हो चुका बताया, लेकिन मामला बीच में ही अटक गया। राज्य के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा का निर्वाचन क्षेत्र भी केकड़ी है। भला वे केकड़ी को जिला बनाना क्यों नहीं चाहेंगे। ऐसे में प्रदेश की कांग्रेस सरकार के सामने धर्मसंकट रहेगा कि ब्यावर व केकड़ी में से किसे जिला बनाया जाए। वैसे दूर-दूर तक ऐसे कोई आसार नजर नहीं आ रहे।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned