अजमेर. तारागढ़ (Taragarh) पर गमगीन माहौल में शिया समुदाय के बच्चे,बड़े और युवा नें ब्लेड,जंजीर से खुद को लहूलुहान कर हजरत इमाम हुसैन व उनके साथ शहीद हुए 72 साथियों को खिराजे अकीदत पेश की। इस दौरान रक्त रंजित देखने को मिला। तारागढ़ पर किसी घर में चुल्हा नही जलाया गया। हताई चौक पर सुबह रवायत पढ़ी गई।

Read more : Rain record : देश की बारिश का रिकॉर्ड छूने के करीब है अजमेर

इमामबारगाह में दोपहर को हजरत हुसैन और उनके साथियों पर हुए जुल्मोसितम के बारे में बताया तो सभी की रुलाई फूट पड़ी। इसके बाद नगाड़े के साथ दुलदुल शरीफ,हजरत अब्बास के अलम व जरीह मुबाकर को मंजिल दी गई। जो कि हथाई,गलियारा चौक गंज शहीदे होते हुए शाम कर्बला पहुंची। इसके बाद जरीह मुबारक को मदफन किया गया।

Read more : Teacher's day : गुरुओं का सम्मान किया गया

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned