मां की ममता : बेटा-बेटी को कुंड में डूबते देख मां ने लगाई छलांग, तीनों की मौत

चूरू जिले के सालासर समीप ग्राम राजियासर खारा की घटना, मृतका सुमन खेत पर बच्चों के साथ निनाण करने गई थी, खेती में व्यस्त रहने पर बच्चों की ओर ध्यान नहीं गया, बाद में देखा तो बच्चे कुंड के पानी में छटपटाते नजर आए

By: suresh bharti

Published: 01 Aug 2020, 12:30 AM IST

अजमेर/चूरू. मां की ममता समुद्र की गहराई से भी अधिक होती है। संतान को वह तनिक भी दुखी, बेचैन, परेशान और बदहाल नहीं देख सकती। संकट में अपनी जान की परवाह किए बगैर संतान की रक्षा करने में वह किसी भी खतरे व चुनौती से मुकाबला करने से नहीं हिचकिचाती। आखिर अपनी औलाद को नौ माह तक गर्भ में धारण करने के बाद उसे जन्म जो दिया है। भला उसकी जान बचाने में वह पीछे कैसे रह सकती है। चूरू जिले के सालासर समीप ग्राम राजियासर खारा में एक मां ने ऐसा ही कुछ कर दिखाया।

कुएं में पानी काफी गहरा था

बाबूलाल नायक की पत्नी सुमन गुरुवार को खेत पर काम कर रही थी। इस दौरान दो बच्चे खेलते-खेलते कुंड के पास जा पहुंचे। मां का ध्यान इस ओर गया ही नहीं। वह खेत पर निनाण करने में व्यस्त रही। कुछ देर बाद उसने आसपास नजर दौड़ाई तो दोनों बच्चे नहीं दिखे। वह कुंड के पास गई तो बच्चे पानी में छटपटाते नजर आए। मां ने शोर भी मचाया, लेकिन सहायता के लिए किसी को आता नहीं देख वह खुद कुएं में कूद गई। कुएं में पानी काफी गहरा था। सुमन को तैरना नहीं आता था। इसके चलते वह बच्चों सहित पानी में डूब गई।

शवों का पोस्टर्माटम

खेत से सुमन व बच्चे शाम तक घर नहीं पहुंचे। ऐसे में परिजन खेत पर आए। यहां का नजारा देख सभी की आंखें फटी की फटी रह गई। सुमन व उसका बेटा और बेटी के शव पानी में तैरते दिखे। शुक्रवार सुबह शवों का पोस्टर्माटम कर परिजन को सौंप दिया।
पुलिस के अनुसार मृतका के भाई भींवाराम नायक पुत्र सोहनराम नायक निवासी अणखोल्या ने बताया कि बहन सुमन की शादी सात साल पूर्व हुई थी। गुरुवार को अपने खेत में बेटी उर्मी व बेटा प्रदीप के साथ निनाण करने गई थी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची व ग्रामीणों की सहायता से शवों को बाहर निकाला।

पैर फिसलने से युवक कुंड में गिरा, मौत

इधर, सालासर तहसील के गांव तोलियासर कुण्ड से पानी निकालते समय युवक का पैर फिसल गया। ऐसे में डूबने से उसकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार मृतक के बड़े भाई नारायणराम मेघवाल ने बताया कि छोटा भाई हंसराज खेतों में बुधवार दोपहर निनाण कर रहा था। कुंड से पानी निकालते समय हंसराज का पैर फिसल गया। पड़ोसियों की मदद से उसे बाहर निकालकर सालासर के राजकीय अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned